हरिद्वार समाचार– स्वामी आनंद गिरी को युवा भारत साधु समाज के अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से हटा दिया गया है। श्री गरीबदासीय सेवाश्रम में संपन्न हुई युवा भारत साधु समाज की बैठक में संगठन के पदाधिकारियों ने विवादों में घिरे स्वामी आनंद गिरी को संगठन के अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से मुक्त करने का निर्णय लिया। बैठक में लिए गए निर्णय की जानकारी देते हुए अध्यक्ष महंत शिवानंद व महामंत्री रविदेव शास्त्री ने बताया कि अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष ब्रह्मलीन श्रीमहंत नरेंद्र गिरी की मौत के बाद विवादों में आए स्वामी आनन्द गिरी को संगठन के अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से मुक्त कर दिया गया है। अब उनका संगठन से कोई नाता नहीं रह गया है। उन्होंने कहा कि श्रीमहंत नरेंद्र गिरी की मौत की उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए और दोषियों को कड़ा दण्ड मिलना चाहिए। ब्रह्मलीन श्रीमहंत नरेंद्र गिरी को श्रद्धांजलि देते हुए महंत शिवानंद व स्वामी रविदेव शास्त्री ने कहा कि अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद अध्यक्ष श्रीमहंत नरेंद्र गिरी महाराज संत समाज के प्रेरणा स्रोत थे। उनके आकस्मिक निधन से संत समाज को गहरा आघात लगा है। संत समाज को एकजुट करने तथा हिंदू हितों से जुड़े मुद्दों को मुखरता से उठाने वाले श्रीमहंत नरेंद्र गिरी के योगदान को हमेशा याद रखा जाएगा। बैठक में महामण्डलेश्वर स्वामी अनंतानंद, स्वामी दिनेश दास, संत जगजीत सिंह, महंत सूरज दास, महंत रामजी, स्वामी हरिहरानंद, महंत सुतीक्ष्ण मुनि, महंत जगदीश मुनि, महंत श्रवण मुनि, महंत लोकेश दास आदि सहित कई संत महंत उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.