हरिद्वार-
कांवड़ मेला की तैयारियों के दृष्टीगत ड़ीआईजी/एसएसपी हरिद्वार  द्वारा पुलिस कार्यालय स्थित सभागार में पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक आयोजित करते हुए दिये गये आवश्यक दिशा निर्देशः ड़ी0आई0जी0/एसएसपी हरिद्वार द्वारा पुलिस कार्यालय स्थित सभागार में आगामी कांवड मेले के दृष्टीगत जनपद के समस्त पुलिस अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक आयोजित की गयी जिसमें विगत कांवड मेला के दौरान उत्पन्न हुयी समस्याओं के सम्बन्ध में जानकारी लेते हुए आगामी कांवड़ मेला में उक्त कमियों को दूर किये जाने व उसके समाधान के सम्बन्ध में विस्तृत रूप से विचार विमर्श करते हुए सम्बन्धित क्षेत्राधिकारियों को प्रशासनिक अधिकारियों के साथ करते संवाद स्थापित करते हुए समस्याओं का तत्काल निराकरण करने हेतु निर्देशित किया गया साथ ही अवगत कराया गया कि विगत 02 सालों से कोविड़ दृष्टीगत कांवड मेला आयोजित न होने के कारण इस वर्ष बहुत अधिक संख्या में शिव भक्तों के हरिद्वार आने की सम्भावना है। जिस हेतु हमें अपेक्षा के अनुरुप पूर्व से ही विस्तृत रुप में तैयारियां करनी है जिससे कि शिव भक्तों को किसी भी प्रकार की असुविधा न हो।
 बैठक में उपस्थित अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि विगत कई वर्षों के कांवड़ मेला में आयी दिक्कतों को देखते हुए 03 बातों को लेकर कांवड़ मेले में विवाद होने की प्रबल सम्भावना बनती है-
एक्सीडेन्ट के कारण- कांवड़ मेले के दौरान किसी कांवड़िये से किसी वाहन या व्यक्ति विशेष पर टक्कर लगने से दुर्घटना होने पर तत्काल निस्तारण न किये जाने पर बबाल की स्थित उत्पन्न हो जाती है जिसपर सम्बन्धित पुलिस बल को तत्काल कार्यवाही करनी चाहिए जिससे की कांवडियों की भीड़ व भगदड़ से शान्ति व्यवस्था प्रभावित न हो पाये।
डायवर्जन के कारण – कांवडियों की अधिक भीड़ भाड़ को देखते हुए उन्हे डायवर्जन किये जाने हेतु बनायी गयी व्यवस्थाओं पर न चलते हुए कांवड़िये पुलिस बल से उलझने लगते है तथा जबदस्ती उसी मार्ग पर जाना चाहते है जिससे उक्त स्थान पर कावंडियों की भीड़ एकत्रित होना स्वाभाविक है जिस हेतु उक्त प्वांइट पर पर्याप्त पुलिस बल मय बॉड़ी प्रोटेक्टर मय केन सील्ड़ एंव अन्य उपकरणो सहित उक्त स्थानों पर 24 घण्टे नियुक्त रहगें।
साम्प्रदायिक कारणः- कावंड़ मेला हिन्दुओं का आस्था का मेला है जिसमें छोटी दृछोटी बातें बड़ा रुप ले सकती है जिस हेतु प्रत्येक थाना प्रभारियों को अपने थाना क्षेत्र में हर प्रकार से तैयारी के साथ रहना है समस्त थाना प्रभारी यह सुनिश्चित कर लें कि कांवड़ यात्रा मार्ग पर 100 मीटर के दायरे में कोई मांस दृमदीरा की दुकाने नहीं लगनी चाहिए, अक्सर मांस की दुकाने देखी जाने पर शांति व्यवस्था प्रभावित होने की पूर्ण सम्भावना रहती है जिस हेतु संवेदनशील स्थानों पर अनुभवी पुलिस बल को नियुक्त किया जाये जिससे कि मौके पर किसी प्रकार की छोटी- छोटी को घटना होने पर तत्काल अपने विवेक का प्रयोग करते हुए उसका समाधान करवाया जाये साथ ही महोदय द्वारा निम्न बातों का विशेष ध्यान रखते हुए कांवड़ मेले से पूर्व सम्पूर्ण व्यवस्था करते हुए कार्यवाही सुनिश्चित करने हेतु निर्देशित किया गया।
1-समस्त प्रभारी अपने-अपने क्षेत्रों में नहर पटरी, पार्किंग,घाटों एंव वैकल्पिक यातायात मार्गों का भौतिक निरीक्षण करते हुए पायी जाने वाली कमियों का आगामी 05 दिवस के भीतर अन्य विभागों के साथ आपसी समन्वय बनाते हुए निराकरण करना सुनिश्चित करेंगे साथ ही राष्ट्रीय राजमार्ग पर जिन-जिन स्थानों पर जाम की अधिक समस्याएं हैं उन स्थानों को चिन्हित करते हुए उसकी सूची कांवड़ मेला नोड़ल अधिकारी (पुलिस अधीक्षक नगर) को प्रेषित की जाये जिससे की वहां पर पर्याप्त मात्रा में पुलिस बल नियुक्त कर आवश्यक उपाय किये जा सके।
2- जिन स्थानों पर बैरिकेटिंग या स्लाइडिंग बेरियर लगाए जानें हैं उन स्थानों पर समस्त तैयारियां पूर्ण की जाये। मुख्य दृमुख्य स्थानों पर बडे -बड़े साइन बोर्ड लगाये जायें, होटल/रेस्टोरेंन्ट एंव ढाबा संचालकों से वार्ता करते हुए रेट लिस्ट चस्पा करवाई जाये जिससे कि अनावश्यक वाद-विवाद की स्थिति उत्पन्न न हो।
3- हरकी पैड़ी क्षेत्र में कांवड़ियों के आने व जाने का मार्ग निश्चित करते हुए संवेदनशील स्थानों पर प्रत्येक दशा में सीसीटीवी केमरे लगवाये जायें।
4- जिन स्थानों पर कांवड़ बाजार लगाये जायेंगे उन स्थानों को चिन्हित करते हुए प्रशासन से समन्वय स्थापित कर सुगम मार्ग व्यवस्था सुनिश्चित की जाये जिससे किसी प्रकार की भगदड़ की स्थिति उत्पन्न न हो।
5-समस्त थाना प्रभारी अपने-अपने थाना क्षेत्रान्तर्गत बाहरी व्यक्तियों का गहनतापूर्वक सत्यापन अभियान चलाना सुनिश्चित करेंगे जिससे की मेले के दौरान कोई भी अवांछनीय घटना घटित न हो पाये।
6- समस्त थाना प्रभारी अपने-अपने क्षेत्रान्तर्गत अन्य समुदाय के गणमान्य/संभ्रान्त व्यक्तियों के साथ मीटिंग (गोष्ठी) करें एवं सम्बन्धित आवासीय इलाकों/कस्बों में सर्तकतापूर्ण दृष्टि रखी जाए जिससे की किसी भी स्थिति में कांवड़ यात्रा प्रभावित न हो।
7- समस्त थाना प्रभारी अपने थाना/चैकी क्षेत्रान्तर्गत जरूरत की आवश्यक सामग्री जैसे- टॉर्च, सीसीटीवी, बैरियर्स, रस्सा, लाउड स्पीकर की मांग करते हुए समय से मेला कन्ट्रोल से प्राप्त करना सुनिश्चित करें।
8- कांवड़ मार्ग पर जिन स्थानों पर लाइट पानी चिकित्सा व्यवस्था नहीं है वहां पर सम्बन्धित विभागों से समन्वय स्थापित करते हुए पूर्ण करवाना सुनिश्चित करेंगे साथ ही जिन स्थानो पर कांवड़िया गांव , मौहल्ले से होते हुए गुजरते हैं उन स्थानों के लोगों से अवश्य गोष्ठी आयोजित किया जाये।
9- मेले के दौरान वाहनों को बाईपास भेजा जाता है हेतु सभी प्रभारी अपने क्षेत्र में रुट को चैक करा लेंगे कि मार्ग सही है कि नहीं तथा जिन स्थानों पर यातायात को डाइवर्ड किया जाना है उन स्थानों पर बड़े- बड़े साइन बोर्ड लगाये जाये साथ ही मेले के दौरान उक्त स्थानों पर भली भांति ब्रीफ करते हुए पुलिस बल नियुक्त किया जाये।
10- श्यामपुर /भगवानपुर / नार्सन / , पुरकाजी एंव अन्य जनपदीय बोर्डरों पर सुरक्षा व्यवस्था हेतु नियुक्त किये जाने वाली पुलिस बल की सूची मेला कन्ट्रोल को प्रेषित की जाये जिससे की समय से आवश्यकतानुसार पुलिस बल को मय उपकरणों सहित सम्बन्धित बोर्डरों पर मेला कन्ट्रोल द्वारा समय से आवंटित किया जा सके ।

उक्त बैठक में पुलिस अधीक्षक नगर स्वतन्त्र कुमार /पुलिस अधीक्षक अपराध हिमांशु वर्मा /अपर पुलिस अधीक्षक संचार विपिन कुमार / समस्त क्षेत्राधिकारी / समस्त प्रभारी निरीक्षक / थानाध्यक्ष / प्रतिसार निरीक्षक संचार/ प्रतिसार निरीक्षक लाईन व अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.