हरिद्वार-आज नेहरू युवा केंद्र, हरिद्वार द्वारा संचालित नमामि गंगे परियोजना में युवाओं की सहभागिता के अंतर्गत 7 दिवसीय स्पीयरहेड टीम के प्रशिक्षण कार्यक्रम के दूसरे दिन की शुरुआत चेतना गीत द्वारा की गयी। मु एक्सख्य प्रशिक्षक अजय राज शर्मा  ने कहा कि हमें अपने बड़ों का आदर-सम्मान करना चाहिए।  आज के प्रशिक्षण के अंतर्गत विषय गंगा की चिंता करने की आवश्यकता क्यों पड़ी पर स्पीयरहेड ने अपने अपने विचार प्रस्तुत किये। 
जिला युवा अधिकारी हिमांशु सिंह राठौर जी ने युवा मंडल विकास पर प्रकाश डालते हुए कहा कि हम युवा मंडल का गठन कैसे करना चाहिए तथा युवा मंडल की कार्यप्रणाली समझाई। 
जिला परियोजना अधिकारी, नमामि गंगे सत्यदेव आर्य जी ने बताया कि माँ गंगा का उद्गम कहा से हुआ तथा युवाओ को इस प्रशिक्षण की आवश्यता क्यों है। गंगा की स्वच्छता को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार ने निर्णय लिया कि गंगा स्वच्छता के लिए युवाओं का प्रशिक्षण जरूरी है। इसलिए स्पीयरहेड टीम का गठन किया गया जिसके द्वारा विभिन्न गांवों में  जागरूकता कार्यक्रम किए जाएंगे। इस परियोजना के अंतर्गत गंगा चौपाल, रेली, नुक्कड़ नाटक, निबंध लेखन, आदि कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। 
प्रशांत कुमार जी ने जीवन जीने के मूल भूतों को समझाते हुए कहा कि गंगा के पर्यावरण को सही रखने के लिए गंगा की स्वच्छता आवश्यक है वहीं श्री गंगा सभा के महामंत्री श्री तन्मय वशिष्ठ जी ने सभी युवाओं को अपने व्यवहार में अच्छी आदतों को शामिल करने और गंगासेवा को अपने दैनिक व्यवहार में लाने के लिए प्रेरित किया। इस अवसर पर सभी प्रतिभागीयों ने ग्रुप में विभिन्न विषयों पर आपस मे चर्चा की एवं अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.