हरिद्वार समाचार– जिलाधिकारी श्री विनय शंकर पाण्डेय ने मौसम विज्ञान विभाग द्वारा दिनांक 17 एवं 18 अक्टूबर,2021 को उत्तराखण्ड राज्य में भारी से बहुत भारी वर्षा/ओलावृष्टि/ आकाशीय बिजली गिरने/तेज हवा चलने की संभावनाओं/पूर्वानुमान/चेतावनी को देखते हुये अधिकारियों की एक आवश्यक बैठक आयोजित की थी।
बैठक में जिलाधिकारी ने पर्यटन अधिकारी को जनपद हरिद्वार से चारधाम यात्रा हेतु प्रस्थान करने वाले तीर्थ यात्रियों की सुरक्षा के मद्देनजर दिनांक 17 एवं 18 अक्टूबर,21 तक तीर्थ यात्रियों को यात्रा प्रारम्भ न करने सम्बन्धी जानकारी देने, जनपद हरिद्वार के विभिन्न होटल/लाॅज व धर्मशालाओं में वर्तमान में रूके तीर्थ यात्रियों की संख्या तथा कितने तीर्थ यात्रियों को होटल/लाॅजों व धर्मशालाओं में ठहराया जा सकता है, होटल/लाॅज व धर्मशालाओं में प्रवास हेतु तीर्थ यात्रियों को होने वाली दिक्कतों एवं तीर्थ यात्रियों से अधिक किराया वसूली सम्बन्धी समस्या का समाधान करने तथा यात्रियों को दिनांक 17 एवं 18 अक्टूबर,21 को होटल/लाॅज व धर्मशालाओं में ठहरने पर 15 से 20 प्रतिशत तक बिल में छूट प्रदान करने के सम्बन्ध में वार्ता करने के निर्देश पर्यटन अधिकारी को दिये थे।
उक्त के क्रम में पर्यटन अधिकारी द्वारा होटल/लाॅज व धर्मशालाओं से संवाद स्थापित करते हुये चारधाम यात्रा हेतु प्रस्थान करने वाले यात्रियों को दिनांक 17 एवं 18 अक्टूबर,21 को होटल/लाॅज व धर्मशालाओं में ठहरने पर 15 से 20 प्रतिशत तक बिल में छूट प्रदान करने तथा अन्य सम्बन्धित बिन्दुओं पर चर्चा की थी।
इस सम्बन्ध में पर्यटन अधिकारी ने जिलाधिकारी को अवगत कराया कि सम्बन्धित बिन्दुओं पर उन्होंने होटल/लाॅज व धर्मशालाओं के स्वामियों से विचार-विमर्श किया, जिस पर होटल/लाॅज व धर्मशालाओं के स्वामियों ने कहा कि उत्तराखण्ड देवभूमि है। हम अतिथि देवोभव का पूरा सम्मान करते हैं तथा मौसम की खराबी के कारण हरिद्वार से चारधाम यात्रा हेतु प्रस्थान करने वाले यात्री अगर हमारे होटल/लाॅज व धर्मशालाओं में ठहरते हैं, तो हम उन्हें 15 से 20 प्रतिशत तक बिल में छूट प्रदान करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.