हरिद्वार  समाचार– श्री पंचायती अखाड़ा निर्मल के कोठारी महंत जसविंदर सिंह महाराज ने नैनीताल हाई कोर्ट के आदेश के बाद उत्तराखंड सरकार द्वारा चार धाम यात्रा प्रारंभ किए जाने पर आभार जताया है। प्रेस को जारी बयान में कोठारी महंत जसविंदर सिंह महाराज ने कहा कि काफी समय से संत समाज और व्यापारी वर्ग चार धाम यात्रा शुरू किए जाने को लेकर मांग कर रहे थे। सरकार के इस निर्णय से उत्तराखंड में पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। साथ ही कोरोना काल में निराश व्यापारियों को रोजगार का अवसर भी मिलेगा। उन्होंने कहा कि अधिकांश आश्रम अखाड़े भी दान दक्षिणा से संचालित होते हैं। चार धाम यात्रा खुलने पर उत्तराखंड में यात्रियों का आवागमन बढ़ेगा। जिससे आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। उन्होंने कहा कि हेमकुंड साहिब भी पंजाब सहित पूरे देश से श्रद्धालु भक्त दर्शन करने जाते हैं। ऐसे में सिख समुदाय भी सरकार का आभार व्यक्त करता है। उन्होंने कहा कि चारधाम यात्रा प्रदेश की आर्थिक रीढ़ है। व्यापारी दो वर्षो से कोरोना के चलते मंदी का सामना कर रहे थे। राज्य के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के प्रयासों के साथ साथ नैनीताल हाईकोर्ट का फैसला जनहित में है। अवश्य ही लोगों को चारधाम यात्रा से लाभ प्राप्त होगा। पर्वतीय क्षेत्रों के व्यापारियों की आर्थिक स्थिति ठीक हो सकेगी। उन्होंने लोगों से भी अपील करते हुए कहा कि यात्रा काल में सरकार द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करें। आभार जताने वालों में महंत खेमसिंह, संत निर्भय सिंह, संत सिमरन सिंह, संत सुखमन सिंह, संत तलविन्दर सिंह, संत जसकरण सिंह, ज्ञानी जैल सिंह आदि शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.