हरिद्वार समाचार– जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी श्री विनय शंकर पाण्डेय की अध्यक्षता में कलक्ट्रेट सभागार में विधान सभा निर्वाचक नामावली पुनरीक्षण के सम्बन्ध में राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक आयोजित हुई।
बैठक में आगामी वर्ष 2022 में विधान सभा चुनावों की तैयारियों के सम्बन्ध में विचार-विमर्श हुआ। जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी ने बैठक में बताया कि चुनाव आयोग के दिशा-निर्देशों के अनुसार एक सितम्बर,2021 से 15 सितम्बर,2021 तक बी0एल0ओ0 द्वारा वर्तमान निर्वाचकों का घर-घर जाकर सत्यापन का कार्य गतिमान है।
श्री विनय शंकर पाण्डेय ने कहा कि जो भी भारतीय नागरिक 01 जनवरी,2022 को 18 वर्ष या उससे अधिक की आयु पूर्ण कर रहा है, वह निर्वाचक नामावली में अपना नाम सम्मिलित करवाने के लिये 01 नवम्बर,2021 से 30 नवम्बर,2021 तक नियमानुसार अपना आवेदन सम्बन्धित बी0एल0ओ0, तहसील/ उप जिलाधिकारी कार्यालय में प्रस्तुत कर सकता है।
जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी ने बैठक में यह भी बताया कि भारत निर्वाचन आयोग द्वारा निहित प्राविधानों के अनुसार अब कोविड-19 के दृष्टिगत आगामी विधान सभा चुनाव में किसी भी मतदेय स्थल पर मतदाताओं की अधिकतम संख्या 1500 के स्थान पर 1200 निर्धारित की गयी है। अर्थात वर्तमान में जिन मतदेय स्थलों पर मतदाताओं की संख्या 1200 से अधिक है, उन मतदेय स्थलों को विभाजित कर सम्बन्धित मतदेय स्थल क्षेत्र के अन्तर्गत उपयुक्त शासकीय भवन में नया मतदेय स्थल स्थापित किया जायेगा।
जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी ने बैठक में सम्बन्धित अधिकारियों, राजनीतिक दलों, राजनीति दलों के प्रतिनिधियों को निर्वाचन आयोग द्वारा मतदेय स्थलों के लिये निर्धारित मानकीकरण जैसे- किसी भी मतदाता को अपने आवास से मतदेय स्थल तक पहुंचने के लिये दो किमी. से अधिक पैदल दूरी तय न करनी पड़े, मतदेय स्थल के लिये चिह्नित भवन जीर्ण-शीर्ण अथवा क्षतिग्रस्त न हो, ग्रामीण क्षेत्र में एक भवन पर दो से अधिक एवं शहरी क्षेत्र में एक भवन पर चार से अधिक मतदेय स्थल स्थापित न हो, प्रत्येक मतदेय स्थल पर आयोग के दिशा निर्देश के अनुसार यथा-रैम्प, पेयजल की सुविधा, फर्नीचर की उपलब्धता, हेल्प डेस्क, शौचालय, विद्युत आदि की व्यवस्था हो।
श्री विनय शंकर पाण्डेय ने बैठक में यह भी बताया कि आयोग के दिशा-निर्देशों के क्रम में जनपद में 135 मतदेय स्थलों (जिनमें मतदाताओं की संख्या 1200 से अधिक है) की वृद्धि हो रही है, 21 मतदेय स्थलों के भवन परिवर्तित हो रहे हैं, 03 मतदेय स्थलों के भवन का नाम परिवर्तन हो रहा है तथा 11 मतदेय स्थलों के मतदाताओं को उसी भवन में स्थापित अन्य मतदेय स्थलों में स्थानान्तरित किया जा रहा है।
जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी ने राजनीतिक दलों, राजनीति दलों के प्रतिनिधियों से कहा कि वे भी चुनाव आयोग द्वारा दिये गये दिशा-निर्देशों का अध्ययन करने के पश्चात इस सम्बन्ध में अपने भी महत्वपूर्ण सुझाव उपलब्ध करा सकते हैं।
इस अवसर पर भाजपा जिला अध्यक्ष डाॅ0 जयपाल सिंह चैहान, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री मदन कौशिक के प्रतिनिधि श्री सुमित भार्गव, श्री सन्दीप सैनी, श्री रोबीन गुप्ता, श्री रमेश गौड़,  बसपा जिला अध्यक्ष, डाॅ0 सोमपाल सिंह, भाकपा, हरिद्वार के श्री विजय पाल, जिला सचिव, सी0पी0आई0(एम0) हरिद्वार, श्री आर0सी0 धीमान, श्री राजीव गर्ग, कांग्रेस के जिला महासचिव श्री विनोद पुरी, अपर जिलाधिकारी श्री पी0एल0 शाह, संयुक्त मजिस्ट्रेट रूड़की श्री अंशुल सिंह, तहसीलदार- श्री मुकेश चन्द्र रमोला, लक्सर, श्री चन्द्रशेखर, रूड़की, रेखा आर्य, भगवानपुर, सुश्री शालिनी मौर्या, ना0 तहसीलदार, श्री गिरीश चन्द्र त्रिपाठी सहित सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.