हरिद्वार समाचार-जिलाधिकारी हरिद्वार श्री सी0 रविशंकर की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में जिला स्तरीय परामर्शदात्री समिति (DLRC) की बैठक आयोजित की गयी।  
बैठक में जिलाधिकारी ने स्पष्ट रूप से बैंकों को निर्देश दिये कि यह वित्त वर्ष की अंतिम बैठक है, जितनी योजनाओं का लाभ बैंको के माध्यम से लाभार्थियों को दिया जाना है उन सभी पात्रों को ऋण वितरित कर दिये जायें। जितने लाभार्थियों के आवेदन स्वीकृति के बाद भी ऋण वितरित नहीं हो पाया है सभी बैंक शाखायें उनकों ऋण वितरित कर दें।
नये सत्र से लीड बैंक और योजना संचालित कर रहे विभागों की ओर से एक संयुक्त प्रपत्र तैयार कर लिया जाये, जिस पर विभिन्न विभागों की लाभकारी योजनायें, योजना की पात्रता, किस विभाग में किस कार्यालय में सम्पर्क किया जाये की सूचना की जानकारी हो। इस प्रपत्र को डिजिटिल फाॅम में भी सोशल मीडिया के माध्यम से प्रसारित किया जाये।
जिन बैंकों का प्रदर्शन इस वित्त वर्ष में अच्छा नहीं रहा है, उनकी रिपोर्ट बैंक के नाम, शाखा, ब्रांच मैनेजर के नाम सहित उच्च स्तर पर दी जायेगी। डीएम ने समस्त विभागाध्यक्षों को इस माह के वेतन आहरण के साथ सामाजिक सुरक्षा योजना के अंतर्गत वेतनभोगी धारकों को बीमा योजना की जानकारी देते हुए अधिकारी कर्मचारियों को बीमित किये जाने के भी निर्देश दिये।
डीएम ने विभिन्न योजनाओं के संचालन को लेकर बैंकों की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने सभी को गम्भीरता से लक्ष्यों के सापेक्ष कार्य करने को कहा। लीड बैंक अधिकारी ने जिलाधिकारी को बताया कि प्रधानमंत्री जनधन योजना के अंतर्गत जनपद में योजना के प्रारम्भ से लेकर 31 दिसम्बर तक 6,98,577 खाते खोले गये, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत 31 दिसम्बर तक 4,38,010 व्यक्तियों को बीमित किया जा चुका है, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना के अंतर्गत 1,43,838 व्यक्तियों का बीमा, अटल पेेंशन योजना में 56,061 व्यक्तियों को लाभ दिया गया।  24,20,943 बैंक खातों में आधार सीडिंग की जा चुकी है।
बैठक में सीडीओ हरिद्वार श्री सौरभ गहरवार, महाप्रबन्धक जिला उद्योग, जिला पर्यटन विकास अधिकारी, डेयरी विकास अधिकारी, मुख्य कृषि अधिकारी, जिला उद्यान अधिकारी सहित विभिन्न विभागीय अधिकारी एवं समस्त बैंकों के प्रतिनिधि/अधिकारी उपस्थित रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published.