हरिद्वार– श्री महाराजा अग्रसेन घाट समिति के तत्वाधान में रविवार से श्रीमद् भागवत कथा भक्ति ज्ञान यज्ञ का आयोजन किया जाएगा। कार्यक्रम की जानकारी देते हुए समिति के अध्यक्ष रामबाबू बंसल ने बताया कि महाराजा अग्रसेन घाट समिति द्वारा कथा व्यास भागवताचार्य पंडित मनोज भास्कर के मुखारविंद से श्रद्धालु भक्तों को कथा का रसपान कराया जाएगा। श्रीमद् भागवत कथा मोक्षदायिनी है और गंगा तट पर कथा श्रवण का विशेष महत्व है। उन्होंने कहा कि सौभाग्यशाली व्यक्ति को ही कथा श्रवण का अवसर प्राप्त होता है। इसलिए सभी श्रद्धालु भक्त अपने परिवार सहित कथा श्रवण का लाभ अवश्य उठाएं। महामंत्री डा.विशाल गर्ग ने कहा कि जन्मों जन्मों के पुण्य उदय होने के बाद श्रीमद्भागवत कथा श्रवण का अवसर व्यक्ति को प्राप्त होता है। श्रीमद्भागवत कथा मोक्षदायिनी है और देवताओं को भी दुर्लभ है। देवभूमि उत्तराखंड की पावन धरा पर और हरिद्वार में पतित पावनी मां गंगा के तट पर जो व्यक्ति इस कथा का श्रवण कर लेता है। उसके जन्म जन्मांतर के पापों का शमन हो जाता है और उसका जीवन सदैव ही उन्नति की ओर अग्रसर रहता है। समिति के संयोजक अरविंद अग्रवाल एवं कोषाध्यक्ष अरुण अग्रवाल ने कहा कि श्री महाराजा अग्रसेन घाट समिति द्वारा आयोजित श्रीमद्भागवत कथा के दौरान श्रद्धालु भक्तों को निरंजन पीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी कैलाशानंद गिरी महाराज का भी आशीर्वाद प्राप्त होगा। परमात्मा की प्राप्ति और जन्म जन्मांतर के पापों से मुक्ति हेतु श्रीमद् भागवत कथा सर्वोपरि है। वास्तव में मोक्ष प्राप्ति के लिए श्रीमद्भागवत से अतिरिक्त और कोई ग्रंथ नहीं है। श्रीमद्भागवत कथा में ही सभी ग्रंथों का सार निहित है। जिससे सोया हुआ ज्ञान व वैराग्य जागृत हो जाता है। श्रीमद्भागवत कथा के दौरान अग्रसेन घाट समिति के पुजारी पंडित दिनेश शास्त्री, आशीष मित्तल, पार्थ अग्रवाल, उमेश कुमार गुप्ता, मनोज गुप्ता, संदीप जैन, संजीव जैन, राजीव बंसल, मुकेश अग्रवाल, यूसी जैन, सतपाल ब्रह्मचारी, डा.महावीर प्रसाद अग्रवाल, पूर्व विधायक संजय गुप्ता, पूर्व मेयर मनोज गर्ग, विकास गर्ग, विकास गोयल, पराग गुप्ता सहित बड़ी संख्या में श्रद्धालु भक्त उपस्थित रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.