मां की महिमा जगत में अपरम्पार है-श्रीमहंत रविन्द्रपुरी
हरिद्वार 20 अक्टूबर। मां मंषा देवी मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष श्रीमहंत रविन्द्रपुरी महाराज ने कहा है कि देवी आद्यशक्ति मां दुर्गा नाना स्वरूपों में अवतरित हो, सम्पूर्ण ब्रह्माण्ड के समस्त तत्वों में विद्यमान है। जिनसे इस चराचर जगत के सुचारू संचालन का कार्य पूर्ण होता है। जीवन की उत्पत्ति तथा विकास हर चरण मातृशक्ति द्वारा ही परिचालित है। परिणामस्वरूप शक्ति संसार में सर्वोपरि है। शिवालिक पर्वतमाला स्थित सिद्धपीठ मां मंषा देवी मंदिर के प्रांगण में श्रद्धालु भक्तों को मां की महिमा का सार बताते हुए श्रीमहंत रविन्द्रपुरी महाराज ने कहा कि मां की शक्ति संसार में अपरम्पार है। जगत का कल्याण करने वाली ममतामयी मां मंषा देवी भक्तों की अराधना से प्रसन्न होकर उनका कल्याण करती है। प्रत्येक भक्त के मन में निवास करने वाली मां कलियुग में साक्षात मां मंषा देवी पर विराजमान है। जो भक्तों के कष्टों को हरकर उनकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण करती है। श्रीमहंत रविन्द्र पुरी महाराज ने कहा कि दैवीय कृपा व मां गंगा के आशीर्वाद से जल्द विष्व को कोरोना महामारी से निजात मिलेगी और सम्पूर्ण विष्व में खुषहाली लौटेगी। उन्होंने कहा कि शारदीय नवरात्रौ में मां की उपासना का विषेष महत्व है। श्रद्धापूर्वक की गई देवी मां की अराधना से साधक के सभी मनोरथ पूर्ण होते हैं। मां मंषा देवी सम्पूर्ण जगत में गौरवर्णा और मनोहारिणी है जो अपनी शरण में आने वाले हर भक्त का कल्याण कर उसे सुख समृद्धि प्रदान करती है। इसलिए मां का स्थान जगत में सर्वोपरि है। उन्होंने कहा कि मां की भक्ति से सम्पूर्ण जगत में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है जो व्यक्ति के अन्तःकरण को शुद्ध करता है। इसलिए मां की भक्ति में लीन रहकर सदैव सत्य के मार्ग पर चलना चाहिए और भावी पीढ़ी को संस्कारवान बनाकर धर्म के मार्ग पर अग्रसर करना चाहिए। इस अवसर पर मंषा देवी मंदिर ट्रस्ट के ट्रस्टी अनिल शर्मा, इन्दू गिरि सहित हेमन्त टुटेजा, प्रतीक सूरी, संदीप अग्रवाल, पंकज जोषी, सुन्दर राठौर आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.