हरिद्वार समाचार– राज्य सरकार द्वारा कुंभ मेले की अवधि एक माह किए जाने पर बैरागी संतो ने सरकार के निर्णय का स्वागत करते हुए बैरागी कैंप में तीनों वैष्णव अखाड़ों के लिए मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने की मांग की है। प्रैस को जारी बयान में शनि पीठाधीश्वर श्रीमहंत महेंद्र दास महाराज ने कहा है कि मेला प्रशासन को बैरागी संतो के लिए जल्द से जल्द बिजली, पानी, शौचालय आदि की व्यवस्थाएं प्रदान करनी चाहिए। वृंदावन मेले के बाद बड़ी संख्या में बैरागी संत हरिद्वार आगमन करेंगे। इसके लिए सरकार को अपनी तैयारी पहले से पूरी कर लेनी चाहिए। ताकि मेले के दौरान किसी भी संत महापुरुषों को किसी प्रकार की असुविधा का सामना ना करना पड़े। अखिल भारतीय श्री पंच निर्मोही अनी अखाड़े के सचिव महंत रामशरण दास महाराज ने कहा कि वैरागी संत सरकार की गाइड लाइन का पालन करने को तैयार हैं। लेकिन मेला प्रशासन द्वारा बैरागी संतों की उपेक्षा की जा रही है। जिससे संत समाज में भारी रोष है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत द्वारा मेला प्रशासन के अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए जाएं। जिससे बैरागी संतों के लिए मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध हो सकें। उन्होंने कहा कि वैष्णव अखाड़ों के स्थाई निर्माण ना होने के कारण बैरागी संतो को टेंट एवं शिविर में ही कुंभ मेला करना होता है। ऐसे में यदि प्रशासन द्वारा मूलभूत सुविधाएं नहीं मिलती है तो कुंभ मेला कैसे सकुशल संपन्न होगा। महंत विष्णु दास महाराज ने कहा कि कुंभ मेले के दौरान बैरागी संतों के शिविर एवं खालसे मुख्य आकर्षण का केंद्र होते हैं। कुंभ की भव्यता दिव्यता में बैरागी संतों की अहम भूमिका होती है। ऐसे में यदि सरकार द्वारा सुविधाएं नहीं मिलती हैं तो संतो को भारी असुविधा का सामना करना पड़ेगा। इसलिए सरकार एवं मेला प्रशासन जल्द से जल्द बैरागी संतो के लिए कुंभ की व्यवस्थाएं लागू कराए। इस दौरान महंत आकाश दास, महंत रामदास, महंत मनमोहन दास, महंत अमित दास, महंत सिंटू दास, महंत अगस्त दास, महंत प्रह्लाद दास, महंत राजेंद्रदास, महंत प्रमोददास आदि संत मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.