देहरादून समाचार– जिला प्रशासन की ओर से अवगत कराया गया है कि लखवाड़-ब्यासी परियोजना का अधिकतर कार्य पूर्ण हो चुका है लगभग तीन प्रतिशत कार्य पूर्ण होना शेष है। बताया  गया है कि लोहारी क्षेत्र के लगभग 3 गांव के निवासियों द्वारा मुआवजा प्राप्त कर लिया है किन्तु एक गांव के कुछ लोग भूमि के बदले विकासनगर के जीवनगढ में रेशम विभाग की भूमि दिए जाने की मांग पर अड़े हुए है जबकि सरकार के अघिनियम 2013 के अन्तर्गत 01 हैक्टेयर भूमि पर 3 गुना अधिक मुआवजा देने का प्रावधान किया गया, जिसके तहत् पूर्ववर्ती सरकार द्वारा बनाई गयी 2016 की नीति, जिसके अन्तर्गत 01 हैक्टेयर भूमि के  बदले रू0 26 लाख के स्थान पर रू0 75 लाख प्रति हैक्टेयर मुआवजा देने का प्राविधान किया गया है, जिसे सभी ने स्वीकार किया तथा  अधिकतर लोगों द्वारा मुआवजा प्राप्त कर लिया गया है। किन्तु  लोहारी गांव के कुछ लोग निर्धारित स्थान पर भूमि देने की मांग पर अड़े हुए थे तथा परियोजना का काम बाधित कर कर रहे थे, जिन्हें पुलिस बल की सहायता से हटाते हुए कार्य प्रारम्भ करवा दिया गया है तथा 17 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। बताया गया कि माननीय नेता प्रतिपक्ष द्वारा अपने समर्थकों के साथ आज जूडो बांध पंहुचने का प्रयास किया जा रहा था, जिन्हें आधे रास्तें में ही रोक लिया गया है।
बताया गया कि सरकार द्वारा निर्धारित प्राविधानों के अन्तर्गत मुआवजा का भुगतान किया जा रहा है तथा प्रभावित क्षेत्र के सभी लोगों का मुआवजा तैयार है जिन लोगों द्वारा अभी तक मुआवजा प्राप्त नहीं किया है वे जिला प्रशासन से सम्पर्क करते हुए अपना मुआवजा प्राप्त कर सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published.