हरिद्वार, 31 जुलाई। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं श्री पंचायती अखाड़ा महानिर्वाणी के सचिव श्रीमहंत रविंद्रपुरी महाराज ने कॉमनवेल्थ गेम्स में मीराबाई चानू द्वारा स्वर्ण पदक जीतने पर उन्हें बधाई दी है और उनके उज्जवल भविष्य की कामना की है। प्रेस को जारी बयान में श्रीमहंत रविंद्रपुरी महाराज ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय खेलों में जिस प्रकार महिलाओं की भागीदारी बढ़ रही है, वह सराहनीय है और भारत को गौरवान्वित कर रही है। भारत सरकार और खेल एकेडमी इसके लिए आशीर्वाद के पात्र हंै। हम सभी को महिलाओं एवं बालिकाओं के प्रति सम्मानजनक दृष्टिकोण रखते हुए उन्हें खेलों के प्रति बढ़ावा देना चाहिए और उनके हुनर को पहचानते हुए उनके भविष्य का उज्जवल निर्माण करना चाहिए। मीराबाई चानू, गीता कुमारी फोगाट, बबिता कुमारी फोगाट और हाल ही में कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत की अनाहत सिंह जो मात्र 14 वर्ष की हैं। उन्होंने कॉमनवेल्थ गेम्स में हिस्सा लेकर भारत की तरफ से इतिहास रचा है। जो सभी देशवासियों के लिए गौरव का क्षण है। संत समाज और समस्त अखाड़ा परिषद कॉमनवेल्थ गेम्स में प्रदर्शन करने वाले सभी खिलाड़ियों के उज्जवल भविष्य की कामना करता है और आशा करता है कि भारत की तरफ से खेलते हुए अधिक से अधिक स्वर्ण पदक लेकर आए और अपने मां बाप और भारत का नाम रोशन करें। श्रीमहंत रविंद्रपुरी महाराज ने कहा कि भारतीय महिलाएं समाज के प्रत्येक क्षेत्र में अग्रणी भूमिका निभाकर देश का नाम रोशन कर रहे हैं। समाज में फैली कुरीतियों के चलते कई लोग बेटा बेटी में भेदभाव करते हैं। एक सशक्त राष्ट्र निर्माण के लिए इस नजरिए को बदलना होगा और बेटा बेटी का भेदभाव मिटाकर दोनों को समान दृष्टिकोण से देखते हुए उनके भविष्य के बेहतर निर्माण का सभी को संकल्प लेना होगा और समाज के प्रत्येक नागरिक को इसके प्रति जागरूक अवश्य होना चाहिए। ताकि हमारी बेटियों की सुरक्षा हो और वह भविष्य में पूरे विश्व में देश को गौरवान्वित करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.