हरिद्वार: जिलाधिकारी श्री विनय शंकर पाण्डेय की अध्यक्षता में बुधवार को कलक्ट्रेट में विधान सभा क्षेत्र रानीपुर में आ रही विद्युत से सम्बन्धित अनेक प्रकार की समस्याओं के निस्तारण के सम्बन्ध में एक बैठक आयोजित हुई। बैठक में मा0 विधायक रानीपुर श्री आदेश चौहान ने भी प्रतिभाग किया।
बैठक में मा0 विधायक रानीपुर श्री आदेश चौहान ने विद्युत आपूर्ति के प्रकरण का जिक्र करते हुये कहा कि विद्युत की रोस्टिंग के लिये समय निर्धारित किया गया है, लेकिन फिर भी विद्युत विभाग द्वारा किसी न किसी वजह से बिजली कटौती की जा रही है। उन्होंने कहा कि अगर कहीं पर मरम्मत का कार्य चल रहा है, तो उसे भी ठीक करने में काफी समय लगाया जाता है। इस पर विद्युत विभाग के अधिकारियों ने अपना पक्ष रखते हुये कहा कि विद्युत से सम्बन्धित उपकरणों आदि की आपूर्ति के लिये टेण्डर आमंत्रित किये गये थे, जिसका कार्य अब पूर्ण हो चुका है तथा जल्दी ही उपकरणों आदि की आपूर्ति प्रारम्भ हो जायेगी एवं मरम्मत के कार्य में तेजी लायी जायेगी तथा इस तरह के व्यवधानों की वजह से विद्युत की आपूर्ति बाधित नहीं होने दी जायेगी।
जिलाधिकारी श्री विनय शंकर पाण्डये ने विद्युत विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि विद्युत लाइन की मरम्मत, उपकरणों को बदलना आदि के लिये महीने में 15-15 दिन के अन्तराल में दो बार की तिथियां निर्धारित करना सुनिश्चित करें तथा उन्हीं तिथियों में मरम्मत का कार्य किया जाये, जिसकी सूचना विद्युत उपभोक्ताओं तक पहुंचाने के लिये व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाये तथा अन्य तिथियों में अपरिहार्य कारणों को छोड़कर मरम्मत सम्बन्धी कार्यों के लिये बिजली न काटी जाये।
मा0 विधायक रानीपुर ने बैठक में विद्युत ट्रांसफार्मरों का उल्लेख करते हुये कहा कि कई जगह ट्रांसफार्मर बिना घेर-बाड़ के स्थापित किये गये हैं, जो कि सुरक्षा की दृष्टि से उचित नहीं है तथा दुर्घटना का कारण बन सकते हैं। इस पर जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि जनपद में जहां-कहीं भी बिना घेर-बाड़ के ट्रांसफार्मर स्थापित किये गये हैं, उनकी एक सूची बनाकर प्रस्तुत करें, जिसके लिये बजट की व्यवस्था की जायेगी।
श्री आदेश चौहान ने विद्युत विभाग के अधिकारियों से कहा कि विभिन्न क्षेत्रों में दिन-प्रतिदिन आबादी बढ़ रही है, उसी का आकलन करते हुये सम्बन्धित क्षेत्रों के लिये योजना बनाई जाये ताकि पहले से स्थापित उपकरणों पर अधिक लोड न आये। उन्होंने कहा कि ऐसी व्यवस्था बनाई जाये कि कहीं पर अगर ट्रांसफार्मर खराब हो गया है, तो उसे तुरन्त बदला जाये तथा जिन इलाकों में बिजली की चोरी होती है, वहां पर इंस्यूलेटेड वायर वाली लाइन बिछाई जाये एवं जहां पर बिजली के तार लटक रहे हैं, उन्हें ठीक किया जाये।
जिलाधिकारी ने बिजली की चोरी, अवैध कनेक्शन आदि प्रकरण पर सख्त रूख अपनाते हुये विद्युत विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि विद्युत विजिलेंस की टीम के अलावा आप भी कहां-कहां बिजली के अवैध कनेक्शन हैं एवं कहां-कहां बिजली की चोरी की संभावनायें हैं, ऐसे इलाकों को चिह्नित करके अभियान चलाकर  कार्रवाई करें तथा जिसके लिये पूरी सुरक्षा-व्यवस्था उपलब्ध कराई जायेगी। उन्होंने ये भी निर्देश दिये कि जो भी बिजली के बकायेदार हैं, उनसे बिजली के बिल की वसूली करें। अन्यथा की स्थिति उनका कनेक्शन काट दिया जाये।
इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी(प्रशासन) श्री पी0एल0 शाह, मुख्य अभियन्ता श्री संजय टम्टा, एसई श्री प्रदीप चौधरी, ईई श्री एस0के0 सहगल, ईई श्री अरविन्द कुमार, ईई श्री अनूप कुमार, ईई श्री अंकित जैन सहित सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित थे

Leave a Reply

Your email address will not be published.