हरिद्वार: जिलाधिकारी श्री विनय शंकर पाण्डेय की अध्यक्षता में शुक्रवार को कलक्ट्रेट सभागार में सिंगल यूज प्लास्टिक को प्रतिबन्धित किये जाने के सम्बन्ध में जिला टास्क फोर्स की बैठक आयोजित हुई।
बैठक में अपर जिलाधिकारी श्री पी0एल0 शाह ने सिंगल यूज प्लास्टिक के सम्बन्ध में प्रस्तुतीकरण के माध्यम से विस्तृत जानकारी दी। इस पर जिलाधिकारी श्री विनय शंकर पाण्डेय ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि सिंगल यूज प्लास्टिक के प्रयोग पर प्रतिबन्ध के सम्बन्ध में एक विस्तृत कार्य योजना तैयार कर ली जाये तथा आगामी 01 अगस्त से सभी कार्यालयों में प्लास्टिक के गिलास, बोतल, प्लेट, दोने आदि पूर्ण रूप से प्रतिबन्धित रहेंगे एवं इनके स्थान पर स्टील के गिलास, कांच की बोतल, मिट्टी की बोतल आदि का इस्तेमाल किया जाये। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि जिस किसी भी कार्यालय आदि में प्लास्टिक से बनी प्रतिबन्धित सामग्री का इस्तेमाल किया जायेगा, उसके लिये सम्बन्धित कार्यालयाध्यक्ष स्वयं जिम्मेदार होंगे तथा नियमानुसार कार्रवाई की जायेगी।
श्री विनय शंकर पाण्डेय ने अधिकारियों को ये भी निर्देश दिये कि आगामी 01 अगस्त से 10 अगस्त तक सम्पूर्ण जनपद में सिंगल यूज प्लास्टिक के खिलाफ सभी माध्यमों-प्रिण्ट, इलेक्ट्रोनिक, सोशल मीडिया, पम्फलेट तथा फ्लैक्स आदि से व्यापक जन-जागरूकता अभियान चलाया जाये। उन्होंने प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों को निर्देश दिये कि सिंगल यूज प्लास्टिक में कौन-कौन सी वस्तुयें आती हैं तथा इन वस्तुओं के स्थान पर विकल्प के तौर पर कौन सी वस्तुयें जैसे- पॉलीथीन कैरी बैग के स्थान पर-पेपर बैग, कपड़े और जूट का बैग, थर्माकोल और प्लास्टिक कप के स्थान पर-कुल्लहड़ और स्टील के कप का  इस्तेमाल करना है, का एक सरल भाषा में दो दिन के भीतर चार्ट बना लिया जाये, जिसका व्यापक प्रचार-प्रसार इस अभियान के तहत किया जाये। उन्होंने कहा कि प्रचार-प्रसार अभियान के पश्चात विभिन्न टीमें गठित कर छापेमारी तथा चालान की कार्रवाई की जायेगी, जिसमें पकड़े जाने पर दण्डात्मक कार्रवाई के रूप में जुर्माना वसूला जायेगा।
जिलाधिकारी ने बैठक में ये भी निर्देश दिये कि स्कूलों की भी इस अभियान में भागीदारी सुनिश्चित की जाये, प्रत्येक कार्यालय में बड़े-बड़े अक्षरों में पॉलिथीन प्रतिबन्धित करने से संबंधी सूचना/स्लोगन लिखवाये जायें,  विभिन्न मन्दिरों एवं घाटों पर पॉलिथीन का प्रयोग प्रतिबन्धित करते हुये उसके स्थान पर समुचित विकल्प का प्रयोग किया जाये तथा शहर की सड़कों एवं अन्य सार्वजनिक स्थलों पर बिखरी प्लास्टिक की सफाई हेतु योजना तैयार कर प्रस्तुत की जाये।
श्री विनय शंकर पाण्डेय ने अधिकारियों को ये भी निर्देश दिये कि नगर निगम, नगर निकाय, व्यापारी बन्धुओं, मन्दिर समितियों, आश्रम पदाधिकारियों तथा अखाड़ों के पदाधिकारियों आदि सम्बन्धित के साथ भी सिंगल यूज प्लास्टिक पर प्रतिबन्ध के सम्बन्ध में एक बैठक आहूत की जाये ताकि सभी के सहयोग से प्लास्टिक के प्रयोग को हतोत्साहित किया जाये।
बैठक में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ0 योगेन्द्र सिंह रावत ने सिंगल यूज प्लास्टिक के अन्तर्गत जो-जो वस्तुयें आती हैं, उसका एक चार्ट तैयार कर, तद्नुसार कार्रवाई करने पर जोर दिया।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी श्री प्रतीक जैन, सचिव हरिद्वार-रूड़की विकास प्राधिकरण श्री उत्तम सिंह चौहान, परियोजना निदेशक श्री विक्रम सिंह, एसडीएम श्री पूरन सिंह राणा, डीएफओ श्री मयंक शेखर झा, जिला विकास अधिकारी श्री वेद प्रकाश, ए.ई पी डब्लू डी श्री सुरेश तोमर, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से श्री सुभाष कुमार, महाप्रबन्धक उद्योग सुश्री पल्लवी गुप्ता, मुख्य शिक्षा अधिकारी श्री के0के0 गुप्ता, ई.ई.आरडब्लूडी श्री रामजी लाल, ईओ शिवालिक नगर श्री अमित राना, एआर कोपरेटिव श्री राजेश चौहान प्रोजेक्ट इंजी श्री आनंद सिंह बिष्ट सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित थे।
……………….

Leave a Reply

Your email address will not be published.