हरिद्वार-आज  को नेहरू युवा केंद्र, हरिद्वार द्वारा संचालित नमामि गंगे परियोजना में युवाओं की सहभागिता के अंतर्गत 7 दिवसीय स्पीयरहेड टीम के प्रशिक्षण कार्यक्रम के चतुर्थ दिवस की शुरुआत चेतना गीत द्वारा की गयी। एवं रिपोटिंग समिति ने अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करते हुए सत्र की शुरआत की।
प्रथम सत्र में जिला प्रोबेशन अधिकारी श्री अविनाश भदौरिया जी ने युवाओं को संबोधित करते हुए कहा कि मां गंगा की अविरलता और स्वच्छता की जिम्मेदारी सभी आयु वर्ग के लोगों की है लेकिन इसके साथ साथ युवाओं की भूमिका महत्वपूर्ण इसलिए है क्योंकि जितने भी बड़े क्रांतिकारी परिवर्तन हुए हैं वे सभी युवाओं के सहयोग से ही सफल हुए हैं।
द्वितीय सत्र में संस्कृत शिक्षा विभाग में सहायक निदेशक श्री वाजश्रवा आर्य जी ने युवाओं को मां गंगा का मानव जीवन मे महत्व बताते हुए कहा कि मां गंगा हमारी सांस्कृतिक धरोहर हैं गंगा को भारत के अस्तित्व का आधार और कल्याणकारी माना गया है उन्होंने प्रतिभगियों को ग्रामीण स्तर पर जागरुकता अभियान चलाने की तकनीक भी बताई साथ ही वे गांव स्तर पर लोगों से कैसे संवाद स्थापित करें यह भी बताया। प्रतिभागियों ने भी संस्कृत एवं अन्य विषयों पर उनसे प्रश्नों के माध्यम से संवाद किया।
अंत में सभी प्रतिभागियों को ग्रुप में बांटकर नुक्कड़ नाटक एवं रोल प्ले का अभ्यास भी करवाया गया l
जिला परियोजना अधिकारी श्री सत्यदेव आर्य ने युवाओं को सोशल मीडिया का प्रयोग सकारात्मक रूप से हम कैसे कर सकते हैं और वर्तमान में सोशल मीडिया का महत्व युवाओं की बढ़ती भागीदारी एवं साइबर सुरक्षा पर प्रतिभागियों को प्रशिक्षण प्रदान किया।
अंत मे श्री हिमांशु सिंह राठौड़ जी एवं श्री सत्यदेव आर्य जी ने उन्हें स्मृति चिन्ह भेंट किया।
इस अवसर पर प्रशिक्षक अजय राज शर्मा जी, रोहित, प्रवीण, सुहानी, अजय, सदक्ष, मंथलेश एवं अन्य प्रतिभागी उपस्थित रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published.