हरिद्वार: श्री मजहर नईम नवाब, मा0 उपाध्यक्ष उत्तराखण्ड अल्पसंख्यक आयोग की अध्यक्षता में बुधवार को विकास भवन सभागार में अल्पसंख्यकों के कल्याणार्थ भारत सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा संचालित योजनाओं के सम्बन्ध में एक समीक्षा बैठक आयोजित हुई।
बैठक  में मा0 उपाध्यक्ष अल्पसंख्यक आयोग ने विभागवार अधिकारियों से जन-कल्याणकारी योजनाओं के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी ली। समीक्षा के दौरान पुलिस विभाग के अधिकारियों से यह जानकारी ली गयी कि अल्पसंख्यकों के लिये पुलिस विभाग क्या कार्य कर रहा है। अगर कोई मामला दर्ज होता है, तो उस पर कितनी जल्दी कार्रवाई की जाती है। इस पर पुलिस विभाग के अधिकारियों ने बताया कि कोई भी प्रकरण सामने आने पर त्वरित कार्रवाई की जाती है। उपाध्यक्ष अल्पसंख्यक आयोग ने पुलिस विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि आयोग द्वारा जो भी पत्राचार किया जाता है, उस पर तुरन्त जवाब  दिया जाये तथा आयोग द्वारा किसी प्रकरण पर बुलाने पर उपस्थिति सुनिश्चित की जाये, जो भी प्रार्थना पत्र दिये जाते हैं, अगर वे लम्बित चल रहे हैं, तो किन कारणों से लम्बित चल रहे हैं, उसका उल्लेख करते हुये रिपोर्ट उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें।
मा0 उपाध्यक्ष ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से स्वास्थ्य विभाग में अल्पसंख्यकों के कल्याणार्थ कौन-कौन सी योजनायें संचालित हो रही हैं, के सम्बन्ध में जानकारी ली। इस पर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा सभी के कल्याणार्थ योजनायें संचालित की जा रही हैं। गरीब जनता के लिये चिकित्सा कैम्प लगाने की क्या व्यवस्था है, के सम्बन्ध में मा0 उपाध्यक्ष द्वारा पूछे जाने पर अधिकारियों ने बताया कि समय-समय पर चिकित्सा कैम्प आयोजित किये जाते हैं। इस पर मा0 उपाध्यक्ष ने कहा कि एक निश्चित अन्तराल के बाद गरीब जनता के लिये विशेष चिकित्सा कैम्प आयोजित किये जायें। आयुष्मान कार्ड का जिक्र करते हुये उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि आयुष्मान भारत योजना के अन्तर्गत अल्पसंख्यकों के कितने कार्ड जारी हुये हैं, उसकी एक सूची उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। बैठक में जिला कार्यक्रम अधिकारी से मा0 उपाध्यक्ष ने उनके विभाग द्वारा प्रधान मंत्री मातृ कल्याण योजना सहित जो भी योजनायें संचालित की जा रही हैं, उनके लाभार्थियों की सूची तथा जिनको लाभ नहीं मिल पाया है, वह किन कारणों से नहीं मिल पाया, का उल्लेख करते हुये एक सूची उपलब्ध कराने के निर्देश दिये।
श्री मजहर नईम नवाब, मा0 उपाध्यक्ष ने शिक्षा विभाग की समीक्षा करते हुये अधिकारियों से शिक्षा विभाग में उर्दू अध्यापकों की कितनी भर्ती की गयी है, के सम्बन्ध में अधिकारियों ने बताया कि 50 उर्दू अध्यापकों की भर्ती की गयी है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि वर्ष 2016 से अब तक की वार्षिक रिपोर्ट उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें तथा छात्रवृत्ति योजना के अन्तर्गत कितने विद्यार्थियों के प्रार्थना पत्र प्राप्त हुये तथा कितनों को लाभान्वित किया गया, का विवरण भी उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। बैठक में उद्योग विभाग से स्वरोजगार के लिये कौन-कौन सी योजनायें चलाई जा रही हैं तथा इन योजनाओं में कितने लोगों को लाभ प्राप्त हुआ एवं उनमें से अल्पसंख्यक वर्ग के कितने लोग लाभान्वित हुये के सम्बन्ध में उन्होंने अधिकारियों से पूरी जानकारी प्राप्त की। लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों ने बैठक में बताया कि राज्य योजना के अन्तर्ग 45 कार्य चल रहे हैं। इसके अलावा 148 कार्य मरम्मत सम्बन्धी चल रहे हैं एवं एक बड़ा कार्य ज्वालापुर विधान सभा क्षेत्र में पुल बनाने का है। पेयजल निगम के अधिकारियों ने मा0 उपाध्यक्ष को बताया कि शिकोडा पम्पिंग योजना, भुक्कनपुर पम्पिंग योजना बहादराबाद पम्पिंग योजना सहित पांच योजनायें चल रही हैं, जिनका कार्य प्रगति पर है। इसके अलावा पेयजल यूनिट द्वारा 14 कार्य किये जा रहे हैं, जिनमें से पांच पूरे हो गये हैं तथा तीन हैण्डओवर कर दिये गये हैं तथा चार कब्रिस्तानों की बाउण्ड्रीवाल भी की जा रही है, जिसका कार्य प्रगति पर है।
श्री मजहर नईम नवाब मा0 उपाध्यक्ष को बैठक में अधिकारियों ने प्रधानमंत्री आवास योजना के सम्बन्ध में बताया कि इसके अन्तर्गत 1116 लाभार्थियों को लाभ दिया गया है, जिनमें से 179 लाभार्थी अल्पसंख्यक वर्ग के हैं। मा0 मुख्यमंत्री हुनर योजना के सम्बन्ध में मा0 उपाध्यक्ष द्वारा पूछे जाने पर अधिकारियों ने बताया कि इस योजना के अन्तर्गत 50 लाभार्थियों को लाभान्वित किया जा चुका है। इस पर मा0 उपाध्यक्ष ने सूची उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। नगर निगम हरिद्वार के अधिकारियों ने बताया कि प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के अन्तर्गत 1723 लाभार्थियों को लाभान्वित किया जा चुका है। दीन दयाल स्वरोजगार योजना में 53 में से 22 लाभार्थी अल्पसंख्यक वर्ग के हैं। इस पर मा0 उपाध्यक्ष ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि नगर निगमों द्वारा जो भी योजनायें चलाई जा रही हैं, उन योजनाओं से जो लाभार्थी लाभान्वित हुये हैं, उनकी एक सूची मोबाइल नम्बर सहित उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी ने बैठक में मा0 उपाध्यक्ष को बताया कि विभाग द्वारा जो भी योजनायें होती हैं, उनमें सभी वर्गों को समान रूप से लाभ दिया जाता है।
मुख्य उद्यान अधिकारी ने बैठक में बताया कि जनपद हरिद्वार में 12 उद्यान सेण्टर हैं। इस पर मा0 उपाध्यक्ष ने उद्यान अधिकारी को निर्देशित किया कि मुख्यमंत्री हुनर योजना के अन्तर्गत विभिन्न उत्पादों से बनने वाली सामग्री का प्रशिक्षण महिलाओं को दिया जाय ताकि वे अपना व्यवसाय शुरू कर सकें। उन्होंने कहा कि शिविर लगाकर भी इसका प्रशिक्षण दिया जा सकता है। बैठक में खाद्य विभाग के अधिकारियों ने मा0 उपाध्यक्ष को राष्ट्रीय खाद्य योजना, राज्य खाद्य योजना तथा अन्त्योदय खाद्य योजना के सम्बन्ध में जानकारी दी। मा0 उपाध्यक्ष ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि ऐसे दुकानदार, जिनकी तीन बार से अधिक श्किायतें प्राप्त हो चुकी हैं, कितनी दुकानें ब्लैक लिस्टेड हैं, कितनी दुकानें लम्बित चल रही हैं तथा कितनी दुकानों का आपने निरीक्षण किया, इसका पूरा विवरण उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें।
समीक्षा बैठक में विद्युत विभाग, खादी ग्रामोद्योग, सिंचाई विभाग, अल्पसंख्यक विभाग, एचआरडीए,लीड बैंक, कृषि, मत्स्य, अल्पसंख्यक कल्याण, युवा कल्याण आदि विभागों की विस्तृत समीक्षा की गयी तथा दिशा-निर्देश दिये गये।  
विकास भवन सभागार पहुंचने पर श्री मजहर नईम नवाब मा0 उपाध्यक्ष एवं सदस्यों का मुख्य विकास अधिकारी डॉ0 सौरभ गहरवार, द्वारा पुष्पगुच्छ भेंट कर भव्य स्वागत व अभिनन्दन किया गया।
इस अवसर पर सदस्य उत्तराखण्ड अल्प संख्यक आयोग श्री असगर अली, सदस्य श्री वरीश खान, मुख्य विकास अधिकारी डॉ0 सौरभ गहरवार, एएसडीएम श्री विजयनाथ शुक्ल, पंचायती राज अधिकारी श्री अतुल प्रताप सिंह, जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी श्री अविनाश सिंह भदौरिया,, एसीएमओ डॉ पंकज कुमार जैन, महाप्रबन्ध उद्योग सुश्री पल्लवी गुप्ता, मुख्य उद्यान अधिकारी श्री नरेन्द्र यादव, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ0 योगेश भारद्वाज, बचत अधिकारी श्री एस0एस0पाल,अपर अर्थ एवं संख्या अधिकारी श्री लख्मीचंद, सीओ ट्रैफिक श्री राकेश रावत ब्लाकों के बीडीओ, लोक निर्माण, सिंचाई, विद्युत, जल निगम, मत्स्य, जल संस्थान, नगर निगम सहित सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.