हरिद्वार समाचार– जिला सैनिक कल्याण परिषद की हरिद्वार की बैठक आज कलेेक्ट्रेट सभागार में सम्पन्न हुई। जिला सैनिक कल्याण एवं पुनर्वास अधिकारी हरिद्वार कमाण्डर ए0 के0 चौधरी ने पूर्व सैनिकों के हितों को लेकर अनेक मुद्दे जिलाािधकारी के समक्ष रखे।
बैठक में एक्स सर्विसमैन वेलफ़ेअर सोसायटी लालढांग की ओर से पूर्व सैनिकों के आश्रितों को सिडकुल की औद्योगिक इकाईयों में स्थायी नौकरी दिये जाने की मांग की गयी। इस पर डीएम ने जिला प्रशासन हरिद्वार की ओर से रोशनाबाद में स्थापित किये गये उद्योग सेवा केंद्र में पूर्व सैनिकों को अपनी योग्यताओं आदि पंजीकरण कराने को कहा जिसके माध्यम से औद्योगिक इकाईयां योग्यता के आधार पर नियुक्ति कर सकेंगी। परिषद बैठक में जनपद के तीन गांवों लालढांग, मीठीबेरी तथा गैण्डीखाता के पोस्ट आॅफ़िस वाया नजीबाबाद (उ0प्र0) होने के कारण रजिस्टर्ड डाक तथा कोरियर सेवा में विलम्ब की समस्या से अवगत कराया,  इन गंावों की डाक सेवा हरिद्वार उत्तराखण्ड के अन्तर्गत किये जाने की मांग रखी डीएम ने डाक विभाग से वार्ता कर समस्या के निस्तारण की बात कही।
एक्स सर्विसमैन वेलफ़ेअर सोसायटी सुभाषगढ़ की ओर से गांव में गत 30 वर्षों से ग्राम प्रधान के पद पर महिला ग्राम प्रधान की सीट रिजर्व चले आने व अब इस सीट को पुरुष (सामान्य) सीट में परिवर्तित किये जाने की मांग की, डीएम ने शीघ्र होने वाली परिसीमन आपत्तियों में उक्त आपत्ति को दर्ज किये जाने को कहा। ग्राम सुभाषगढ़ से लगे जंगलों से जंगली जानवर द्वारा खेती को नुकसान पहुंचाने की समस्या के समाधान हेतु गांवों में फाॅरेस्ट और कृषि विभाग द्वारा लगायी जा रही संेसर डिवाइस स्थापित किये जाने का आश्वासन दिया।
बैठक में सेवारत तथा पूर्व सैनिकों द्वारा ज़िला प्रशासन से नागरिक/घरेलु मामलों में समय पर सहायता प्राप्त न होने, विभागों द्वारा सैनिकों की समस्याओं के त्वरित निस्तारण न हो पाने की शिकायत पर जिलाधिकारी ने सभी विभागों को सैनिकों से सम्बंधित मामलों के रजिस्टर सभी कार्यालयाध्यक्षों द्वारा पृथक से बनाये जाने व सैनिकों की समस्याओं का निस्तारण हो जाने तक मामले की मासिक प्रगति रिपोर्ट जिलाधिकारी ने प्रस्तुत किये जाने के आदेश दिये। उन्होंने कहा कि इस प्रकार के प्रार्थना पत्रों पर संबंधित विभाग द्वारा त्वरित कार्यवाही की जानी चाहिए तथा जिला सैनिक कल्याण कार्यालय को भी अवगत कराया जाना चाहिए।
 प्रशिक्षित पूर्व सैनिकों का विभिन्न विभागों में सेवायोजन सशस्त्र सेनाओं से सेवानिवृत्त होने वाले सैनिकों के पुर्ननियोजन, शैक्षिक सहयोग के माध्यम से सशस्त्र बलों में भर्ती हेतु अभियान चलाया जाने की मांग पर डीएम ने विद्यालयों के खुलने पर कैंपेन चलाने की बात कही

Leave a Reply

Your email address will not be published.