हरिद्वार समाचार– सांसद लोकसभा हरिद्वार, मानव संसाधन विकास  मंत्री, भारत सरकार,  रमेश पोखरियाल निशंक ने सड़क सुरक्षा समिति, हरिद्वार की बैठक कलेक्ट्रेट वीसी कक्ष में वीडियों काॅफ्रेंसिंग के माध्यम से की। बैठक में जिलाधिकारी हरिद्वार  सी रविशंकर, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सेंथिल अबुदई सहित परिवहन विभाग व समस्त निर्माण विभाग के अधिकारी उपस्थित रहे। उन्होंने परिवहन विभाग के अधिकारियों से जनपद के अन्तर्गत सड़क सुरक्षा क्रिया-कलापों एवं सड़क दुर्घटनाआंे के आंकड़ों की निगरानी, जनपद में वर्ष 2020 में वाहन दुर्घटनाओं का तुलनात्मक विवरण, सड़क दुर्घटना के कारणों को जानकर उसका अध्ययन, जनपद के अन्तर्गत वर्ष 2020 में घटित वाहन दुर्घटनाओं का वाहन वार, कारणवार तुलनात्मक विवरण, जनपद के अन्तर्गत चिन्हित ब्लैक स्पाॅट व अन्य दुर्घटना संभावित स्थलों के सुधारीकरण की कार्यवाही, ओवर स्पीड, वाहन चलाते समय मोबाईल फोन पर बात करना, नशे का सेवन कर वाहन चलाना, रेड लाईट जम्प करना, भार वाहन में क्षमता से अधिक माल ले जाना व भार वाहन में यात्रियों का परिवहन करना के विरूद्ध कठोर प्रवर्तन कार्यवाही, दुपहिया वाहन में चालक सहचालक द्वारा बिना हैल्मेट पहने वाहन चलाना, सहित 11 बिन्दुओं पर जिलाधिकारी ने जनपद की स्थिति से सांसद को अवगत कराया।
 निशंक ने सड़क सुरक्षा के मानकांे का क्रियान्वयन जनपद में सुनिश्चित किये जाने तथा वर्ष 2019 एवं वर्ष 2020 में की गयी प्रवर्तन कार्यवाही का विवरण मांगा। उन्होंने कहा कि  प्रर्वतन कार्रवाई के बाद दुर्घटनाओं में कमी आनी चाहिए।
केन्द्रीय मंत्री ने जिला प्रशासन हरिद्वार, पुलिस व परिवहन विभाग को निर्देश देते हुए कहा कि हरिद्वार अंतर्राष्ट्रीय दृष्टि से एक महत्वपूर्ण शहर है, हम सभी को हरिद्वार को और अधिक सुरक्षित बनाना ही है। इस दिशा में ओवर लोडिंग, नशे में ड्राइविंग को रोकने के लिए विशेष प्रयास करने होंगे।
उन्होंने कहा कि शिक्षा विभाग भी इसमें भागीदारी करते हुए छात्रों को यातायात नियमों,  दुर्घटनाओं से बचाव के लिए शिक्षित करें। विद्यालयो में छात्रों के बीच पेंटिंग, स्लोगन, निबंध, प्रदर्शनी प्रतियोगिता आदि कराये। जिन वाहनों के बार-बार चालान काटने की स्थिति बनी हुई है, उन सभी वाहनों का डाटा अलग से तैयार करने के निर्देश दिये।
मंगलौर विधायक काजी निजामुद्ीन ने सांसद को दुर्घटना स्थल पर 108 के देरी से पहुंचने की शिकायत की। इस पर  निशंक ने जिलाधिकारी एवं सीएमओ को 108 सेवा को  दुरुस्त बनाए रखने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि डीएम स्वंय औचक फोन करके चैक करें कि फोन कितनी देर में उठता है, कितनी दूरी कितनी देर में तय करके एम्बुलेंस घटना स्थल पर पहुँचती है। 108 जिले की लाइफ लाइन बनी रहे।

 मंत्री जी ने निर्देश दिये कि सड़क दुर्घटनाओं में घायल हुए व्यक्ति को हॉस्पिटल पहुँचाने वाले मददगार व्यक्ति (गुड सेमेरिटन) को सार्वजनिक रूप से सम्मानित किया जाये, जिससे अन्य व्यक्तियों को प्रेरित किया जा सके। मददगार व्यक्ति की फोटो भी पुलिस थाना,ें चिकित्सालय आदि स्थानों पर लगायी जाए। उन्होंने वीडियो कांफ्रेस के माध्यम से सभी को सड़क सुरक्षा संबंधी शपथ भी दिलायी।
इस अवसर पर विधायक मंगलौर काजी निजामुद्दीन फोन लिंक्स के माध्यम से तथा हरिद्वार सांसद प्रतिनिधि ओमप्रकाश जमदग्नि, जिलाध्यक्ष महिला मोर्चा रीता चमोली, जिला मंत्री भाजपा आशू चैधरी, जिला उपाध्यक्ष महिला मोर्चा मन्नू रावत ने कलेक्ट्रेट रोशनाबाद वीसी कक्ष पहुंचकर वीडियो कांफ्रेस में प्रतिभाग किया

Leave a Reply

Your email address will not be published.