हरिद्वार समाचार– शंकराचार्य परिषद के अध्यक्ष शांभवी पीठाधीश्वर महामंडलेश्वर स्वामी आनंद स्वरूप महाराज ने देश के पहले सीडीएस जनरल बिपिन रावत सहित 13 सैन्य अफसरों के हेलीकॉप्टर दुर्घटना में आकस्मिक निधन पर गहरा दुख प्रकट किया है। भूपतवाला स्थित आश्रम में प्रेस को जारी बयान में स्वामी आनंद स्वरूप महाराज ने कहा कि इस आकस्मिक दुर्घटना से पूरे देश को गहरा आघात लगा है। देश ने अदम्य साहस एवं शौर्य के परिचायक वीरों को खोया है। जिससे पूर देश में शोक की लहर है। उन्होंने कहा कि जनरल बिपिन रावत तीनों सेनाओं के प्रमुख थे और देश की आन बान शान थे। सीडीएस बिपिन रावत के कार्यकाल में सेना का मनोबल हर समय सातवें आसमान पर रहा और चीन और पाकिस्तान को हर घुसपैठ का करारा जवाब मिला। उन्होंने कहा कि ऐसे अफसरों के अदम्य साहस की बदौलत ही भारत आज एक बड़ी शक्ति के रूप में उभर रहा है। उनका आकस्मिक निधन भारतीय सेना के लिए बहुत बड़ी क्षति है। इसे कभी पूरा नहीं किया जा सकता ।देश की दुश्मनों से रक्षा करने वाले वीर जवान और अफसर देश का गौरव हैं, जो अपने प्राणों की परवाह ना करते हुए भी हर परिस्थिति में देश की सुरक्षा में तैयार रहते हैं। दुख की इस घड़ी में समस्त संत समाज और पूरा देश वीर सैनिकों के परिवार के साथ खड़ा है। स्वामी आनंद स्वरूप महाराज ने कहा कि हेलीकॉप्टर दुर्घटना की जांच होनी चाहिए और पता लगाया जाना चाहिए कि किस कारण यह दुर्घटना घटित हुई। जिससे यह साफ हो सके कि यह कोई हादसा है अथवा षड्यंत्र। अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस सेना का वीवीआइपी हेलीकॉप्टर किन परिस्थितियों में क्रैश हुआ, यह जांच में सामने आए। ताकि भविष्य में इस तरह की दुर्घटनाओं पर रोक लग सके और हमारे वीर जवानों को अपने प्राणों की आहुति ना देनी पड़े। श्रद्धांजलि देने वालों मे श्रीमहंत साधनानंद, स्वामी रोहित गिरी, महंत सत्य गिरी, स्वामी कपिल मुनि, स्वामी रविदेव शास्त्री, महंत रघुवीर दास, महंत बिहारी शरण, महंत विष्णुदास, महंत गोविंददास, महंत प्रेमदास, बाबा हठयोगी, महंत रंजय ंिसंह, महंत जसविन्दर सिंह, महंत अमनदीप सिंह, स्वामी ऋषि रामकृष्ण, स्वामी राजेंद्रानंद, स्वामी ललितानंद गिरी, स्वामी शिवानंद आदि ने भी दिवंगत जनरल बिपिन रावत को महान योद्धा बताया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.