हरिद्वार समाचार– अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष ब्रह्मलीन श्रीमहंत नरेंद्र गिरी महाराज के संदिग्ध परिस्थितियों में निधन की जांच सीबीआई द्वारा कराए जाने पर संतो ने योगी सरकार का आभार जताया है। भूपतवाला स्थित श्री चेतन ज्योति आश्रम में आहूत संतों की बैठक में स्वामी ऋषिश्वरानंद महाराज ने कहा कि ब्रह्मलीन श्रीमहंत नरेंद्र गिरी महाराज एक महान संत होने के साथ ही बहुत बड़ी शख्सियत थे। जिन्होंने पूरे देश में फर्जी संतों के खिलाफ मुहिम चलाकर समाज को धर्म के प्रति जागृत किया साथ ही धर्म एवं संस्कृति के संरक्षण संवर्धन के लिए हमेशा वह तत्पर रहें। गौ हत्या एवं तीन तलाक जैसे सामाजिक मुद्दों को भी वह समय≤ पर समाज के समक्ष उठाते रहे। ऐसे महापुरुष की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत होना कई सवालों को खड़ा करती है। सीबीआई जांच के बाद सभी को उम्मीद है कि सच्चाई उजागर होगी और दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा मिलेगी। महंत देवेंद्र तोमर महाराज ने कहा कि ब्रह्मलीन श्रीमहंत नरेंद्र गिरी महाराज एक कर्मठ संत थे और हर परिस्थिति से जूझने में सक्षम थे। वह किसी भी हाल में आत्महत्या नहीं कर सकते थे। उनकी हत्या की गई है सीबीआई द्वारा जांच किए जाने पर कई सच्चाई उजागर होंगी और सबके सामने दोषियों का चेहरा आएगा। उन्होंने कहा कि यदि सीबीआई जांच में साबित होता है कि श्रीमहंत नरेंद्र गिरी महाराज की हत्या की गई है तो हत्यारा चाहे कोई भी हो उसे कड़ी से कड़ी सजा जरूर होनी चाहिए। साथ ही श्रीमहंत नरेंद्र गिरि महाराज के सुरक्षा में लगे पुलिस कर्मियों से भी गहनता से पूछताछ की जानी चाहिए। युवा भारत साधु समाज के राष्ट्रीय अध्यक्ष महंत शिवानंद महाराज ने कहा कि संत समाज सीबीआई जांच का स्वागत करता है। लेकिन सीबीआई जांच हाईकोर्ट के सिटींग जज की अध्यक्षता में होनी चाहिए ब्रह्मलीन श्रीमहंत नरेंद्र गिरि महाराज ने अखाड़ा परिषद अध्यक्ष रहते हुए सभी तेरह अखाड़ों में समन्वय स्थापित किया और अपने कार्यकाल में सभी अर्ध कुंभ एवं पूर्ण कुंभ को सकुशल रूप से संपन्न कराया। धर्म एवं संस्कृति के उत्थान में उनका अतुल्य योगदान सभी को ज्ञात है। ऐसे निर्भीक महापुरुष कभी आत्महत्या नहीं कर सकते। सीबीआई जांच होने से जल्द से जल्द मामले की सच्चाई सभी के सामने उजागर होगी। कांगे्रस सेवादल के प्रदेश संगठक राजेश रस्तोगी ने कहा कि संत समाज को एकजुट करने में में अहम भूमिका निभाने वाले ब्रह्मलीन श्रीमहंत नरेंद्र गिरी महाराज को कभी भुलाया नहीं जा सकेगा। उनकी रहस्यमी मौत की सीबीआई जांच के बाद दूध का दूध पानी का पानी हो जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.