हरिद्वार समाचार-सरोवर मार्ग, भूपतवाला में मनाया गयाa। भूमा निकेतन आश्रम में स्वामी अच्युतानंद तीर्थ महाराज ने स्वामी भूमानन्द तीर्थ महाराज की प्रतिमा एवं उनकी चरणपादुकाओं का विधिवत पूजन-अर्चन किया। ब्रह्मलीन स्वामी भूमानंद तीर्थ महाराज के 121 वे प्रकट उत्सव पर ज्वालापुर स्थित स्वामी भूमानंद नर्सिंग कॉलेज एवं स्वामी भूमानंद पैरामेडिकल इंस्टीट्यूट के प्रांगण में भूमा पीठाधीश्वर स्वामी अच्युतानंद तीर्थ महाराज एवं जिला अधिकारी विनय शंकर पांडे, राजीव गुप्ता, आई.ए.एस, सेवा निवृत, पूर्व सचिव, भारत सरकार ने 121 पौधों का रोपण किया। इस दौरान नर्सिंग कॉलेज एवं पैरामेडिकल इंस्टीट्यूट के छात्र छात्राओं को संबोधित करते हुए स्वामी अच्युतानंद तीर्थ महाराज ने कहा कि ब्रह्मलीन स्वामी भूमानंद तीर्थ महाराज एक युगपुरुष थे। जिनकी प्रेरणा से आज शिक्षा एवं समाज सेवा के क्षेत्र में भूमा निकेतन अग्रणी भूमिका निभा रहा है। उन्होंने कहा कि अपने जीवन काल में प्रत्येक व्यक्ति को वृक्षारोपण करना चाहिए। वृक्ष हमें प्राणवायु ऑक्सीजन प्रदान करते हैं और अनेकों प्रकार की वनस्पति एवं औषधि हमें वृक्षों द्वारा प्राप्त होती है। पर्यावरण संरक्षण के लिए वृक्षारोपण अति आवश्यक है। आज मानव और प्रकृति के बीच बिगड़ते असंतुलन के लिए मानव जाति जिम्मेदार है। पेड़ों का अत्यधिक कटान और बढ़ती आबादी प्रकृति पर बुरा प्रभाव डाल रही है। कोरोना काल में ऑक्सीजन की कमी के कारण अनेकों लोगों को अस्पतालों में अपनी जान गंवानी पड़ी इससे पूरी मानव जाति को सीख लेते हुए वृक्ष अवश्य लगाने चाहिए। और साथ ही उनका संरक्षण भी करना चाहिए। जिलाधिकारी विनय शंकर पांडे ने कहा कि कहा कि मैं बड़ा ही शौभाग्यशाली हूँ। कि मुझे आज एक महान सन्त का आशीर्वाद प्राप्त हुआ। संत महापुरुष ज्ञान की प्रेरणा देकर समाज का मार्गदर्शन करते हैं। भारत ही नहीं अपितु पूरे विश्व में वृक्षों का विशेष महत्व है। वृक्ष प्रकृति की महान शोभा के भंडार हैं जिन पर मनुष्य, पशु, पक्षी, जीव, जंतु आदि आधारित है। अगर हमें पर्यावरण को बचाना है तो अधिक से अधिक वृक्षारोपण करना होगा। जिस प्रकार प्रत्येक व्यक्ति अपने बच्चों का पालन पोषण करते हैं। उसी प्रकार वृक्षों को भी संरक्षित करना चाहिए। भूमा निकेतन आश्रम के प्रबंधक राजेंद्र शर्मा ने कहा कि वृक्ष हमारे जीवन का आधार है। और प्रत्येक व्यक्ति का दायित्व है कि अपने जीवन में वह एक वृक्ष जरूर लगाएं। वृक्ष ना केवल हमारे मित्र हैं। बल्कि वह सच्चे साथी भी हैं जो हमारे जीवन में प्रत्येक क्षेत्र में काम आते हैं। जीवन की सभी मूलभूत आवश्यकताओं की पूर्ति वृक्षों द्वारा की जा सकती है। इस अवसर पर भूमा परिवार के वरिष्ठ शिष्यगण सेठ लाला इन्द्र प्रकाश, अध्यक्ष, मण्डी परिषद, नरेला मण्डी एवं एन.पी. सिंह, आई.ए.एस., सेवा निवृत, स्वामी भूमानन्द अस्पताल चिकित्सा अधीक्षक, डाॅ. आकाश जैन, संयुक्त सचिव, देवराज सिंह तोमर, प्रबन्धक, राजेन्द्र शर्मा तथा स्वामी भूमानन्द नर्सिंग काॅलेज, स्कूल व स्वामी भूमानन्द पैरामेडिकल इन्सटीट्यूट की प्रधानाचार्य, प्रो. एस. एंगयारकन्नी, अध्यापक – अध्यापिकायें तथा समस्त छात्र-छात्रायें आदि सम्मिलित हुए ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.