देहरादून  17 अगस्त- जिलाधिकारी/अध्यक्ष जिला जल एवं स्वच्छता मिशन श्रीमती सोनिका ने आज कलेक्ट्रेट परिसर स्थित ऋषिपर्णा सभागार में जिला जल एवं स्वच्छता मिशन, जल जीवन मिशन देहरादून की बैठक ली। जिलाधिकारी श्रीमती सोनिका ने जल संस्थान तथा पेयजल निगम के अधिकारियों को बिना तैयारी के बैठक में प्रतिभाग करने पर नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने रेखीय विभाग की कार्यों की समीक्षा करने हेतु  मुख्य विकास अधिकारी को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।
      जिलाधिकारी के निर्देशों के क्रम में मुख्य विकास अधिकारी ने जल संस्थान तथा पेयजल निगम के अधिकारियों के साथ जनपद में एफएचटीसी आच्छादन की अद्यतन स्थिति, फेस वन के कार्यों को पूर्ण करने की अद्यतन प्रगति, फेस टू कार्यों में डीपीआर निर्माण करने की अद्यतन प्रगति, जिला जल एवं स्वच्छता मिशन द्वारा पूर्व में अनुमोदित/स्वीकृत प्राक्कलनो पर कार्य प्रारंभ करने की अद्यतन स्थिति, जल जीवन मिशन के अंतर्गत नवनिर्मित प्राक्कलनो पर चर्चा एवं उनका अनुमोदन, अनुबंधित तृतीय पक्ष निगरानी एजेंसी (टीपीटीआई) के कार्यों की प्रगति, जल जीवन मिशन के तहत पेयजल योजनाओं की फाइनल कंप्लीशन रिपोर्ट (एफसीआर) के लिए तैयार किए गए प्रपत्र के अनुमोदन, डीडब्ल्यूएसएम हेतु अनुबंधित कार्मिकों की नियुक्ति प्रक्रिया पर हुए व्यय को जल जीवन मिशन के सपोर्ट फंड से भारित किए जाने पर चर्चा की। साथ ही बैठक में स्पष्ट सूचना प्रस्तुत न करने पर  पेयजल निगम तथा जल संस्थान के अधिकारियों का स्पष्टीकरण तलब किये जाने के निर्देश दिए।
बैठक में अधिशासी अभियंता जल संस्थान के सी पैन्यूली, एलसी रमोला, एसीएफ वन विभाग तनुजा परिहार, जलकल अभियंता जल संस्थान ऋषिकेश अनिल नेगी, अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी देहरादून डॉक्टर यू एस चैहान, डी ई ओ एजुकेशन सुदर्शन सिंह बिष्ट, आरटीओ टूरिज्म जसपाल चैहान सहित  पेयजल निगम तथा जल संस्थान के सभी वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.