हरिद्वार 19 जुलाई– जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय के निर्देशन, अपर जिलाधिकारी पी0एल0शाह के मुख्य संयोजन एवं नोडल अधिकारी डा0 नरेश चौधरी के संयोजन में कांवड़ मेले के दौरान बी0ई0जी0आर्मी के तैराक दलों ने अपनी मोटरबोटों एवं सभी संसाधनों के साथ कांवडियों की सुरक्षा के लिये गंगा के विभिन्न घाटों पर तैनात होकर अपनी कर्मठता से कांवड़ियों को डूबने से बचाने के लिये अपनी पूर्ण शक्ति झोंक दी है, जिसकी कांवड़ियों/श्रद्धालुओं/यात्रियों द्वारा जगह जगह सराहना की जा रही है।
कांवड़ मेला अब अपने पूर्ण सैलाब पर है, जिसमें लाखों कांवड़िये रोजाना हरिद्वार से जल लेकर अपने अपने गन्तव्य स्थानों पर प्रस्थान कर रहे हैं। कांवड़ियों द्वारा गंगा स्नान के साथ-साथ गंगा में तैरने की भी कोशिश की जाती है, जिसके कारण कांवड़ियों की गंगा में डूबने की संभावना हर समय बनी रहती है, इसको मद्देनजर रखते हुए जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय की विशेष पहल पर बी0ई0जी0 आर्मी के कमाण्डेण्ट राजेश कुमार के निर्देशन, डिप्टी कमाण्डेण्ट संजीव पठानिया, कर्नल एस0के0 मानव, लै0 कर्नल प्रतीक गुप्ता, मेजर एस0 चक्रवर्ती के नेतृत्व में सूबेदार खेमसिंह,नायब सूबेदार लखबीर सिंह, हवलदार अमनदीप, हवलदार बिलावल एस0श्रेष्ठ, हवलदार हरप्रीत सिंह, हवलदार के0 पी0 चौहान, हवलदार मनप्रीत सिंह, सैपर्स राहुल सिंह रावत, भाष्कर सीना,संग्राम साहू, अमूल सिंह, दीपांशु, मेघराज सिंह, रामू कुमार, रोहित द्वारा कांवड़ मेला क्षेत्र के हरकी पैड़ी के आस पास के सभी घाट तथा रूड़की गंग नहर, गणेश पुल, सोलानी पुल, पिरान कलियर,धनौरी तक के सभी क्षेत्रों में बराबर चौकसी बरती जा रही है, जहां से भी देखने में आता है अथवा सूचना मिलती है कि कोई कांवडिया/श्रद्धालु गंगा में डूब रहा है, तो तुरन्त आर्मी तैराक दल के सदस्य अपनी मोटर बोट लेकर मौके पर पहुंच रहे हैं और तुरन्त  कांवड़ियों/श्रद्धालुओं की जान बचा रहे हैं, जिसके लिये सभी कांवडियों/श्रद्धालुओं में विशेष खुशी का माहौल है कि हरिद्वार जिला प्रशासन द्वारा कांवड मेले में आर्मी का भी सहयोग लिया जा रहा है।
आर्मी के तैराक दलों के सभी सदस्यों का कहना है कि हमें भी जिला प्रशासन ने कांवड़ मेले के दौरान कांवड़ियों/श्रद्धालुओं की सेवा का मौका दिया ह,ै इसके लिये हम हर समय तत्पर हैं कि हम कांवड़ियों/श्रद्धालुओं की सुरक्षा कर सकें।
आर्मी बी0ई0जी0 तैराक दल के नोडल अधिकारी डा0 नरेश चौधरी ने अवगत कराया कि इस वर्ष कांवड़ियों की अपार समूह को देखते हुए जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय द्वारा जल पुलिस के साथ बी0ई0जी0 आर्मी तैराक दलों को भी संवेदनशील कांवड मेला क्षेत्रों में तैनात कराया गया है, जो सम्पूर्ण कांवड मेला  क्षेत्रों  में कांवडियों/श्रद्धालुओं को गंगा में डूबने से बचाने के लिये सहयोग कर रहे हैं और सभी कांवड़ियें/श्रद्धालु आर्मी के प्रति सम्मान करते हुए उनकी मुक्त कंठ से प्रशंसा कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.