समान नागरिक संहिता लागू करना मुख्यमंत्री धामी का साहसिक फैसला-स्वामी ऋषिश्वरानंद
हरिद्वार– उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा प्रदेश में समान नागरिक संहिता लागू करने की घोषणा किए जाने पर चेतन ज्योति आश्रम के अध्यक्ष स्वामी ऋषिश्वरानंद महाराज ने मुख्यमंत्री को शुभकामनाएं प्रदान की है और उनके इस निर्णय को प्रदेश के लिए ऐतिहासिक फैसला बताया है। प्रैस को जारी बयान में स्वामी ऋषिश्वरानंद महाराज ने कहा कि उत्तराखंड की संस्कृति और विरासत सदियों से भारतीय सभ्यता के मूल में समाहित रही है। ऋषि-मुनियों की देवभूमि उत्तराखंड समस्त विश्व के लिए अध्यात्म का केंद्र रही है। समान नागरिक संहिता लागू होने पर सभी नागरिकों के लिए एक समान कानून लागू किए जाएंगे। जोकि सभी के लिए हितकारी हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा लिया गया यह निर्णय एक साहसिक कदम है। देश के विकास के लिए पूरे भारत में यूनिफॉर्म सिविल कोड लागू होना चाहिए। भाजपा ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी पर विश्वास जताया है और उन्हें दोबारा मुख्यमंत्री का दायित्व सौंपा है। उनको उत्तराखंड के समग्र विकास की योजनाएं बनानी चाहिए साथ ही रोजगार और पलायन जैसे अहम मुद्दों को भी हल करने के लिए प्रयास करने चाहिए। उन्होंने कहा कि पुष्कर सिंह धामी सनातन प्रेमी होने के साथ-साथ युवा और कर्मठ है। जिन्होंने कम समय के राजनीतिक कैरियर में जनता के विश्वास को जीता है। हमें आशा है कि वह प्रदेश के चहुंमुखी विकास के लिए दिन-रात कार्य कर प्रदेश को उन्नति की ओर अग्रसर करेंगे। संत समाज का आशीर्वाद हमेशा उनके साथ है और संत समाज हर परिस्थिति में उनके साथ कंधे से कंधा मिला कर खड़ा है। ईश्वर उनकी कार्यशैली में वृद्धि कर उनको दीर्घायु प्रदान करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.