हरिद्वार, 11 जुलाई। आनंद पीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी बालकानंद गिरी महाराज ने कहा है कि केंद्र सरकार और सेंसर बोर्ड को ऐसी फिल्मों और वेब सीरीज पर रोक लगानी चाहिए। जिसमें किसी भी धर्म के देवी देवता का अपमान दर्शाया गया हो और जिससे किसी भी धर्म संप्रदाय की धार्मिक भावना आहत हो। प्रेस को जारी बयान में आचार्य स्वामी बालकानंद गिरी महाराज ने कहा कि महाकाली भगवती जगत जननी है और जिसके बिना जीवन की कल्पना भी नहीं की जा सकती। वेब सीरीज द्वारा मां काली का अपमान दर्शाया गया है। जिससे करोड़ों हिंदुओं की भावनाएं आहत हुई हैं। सरकार को ऐसी फिल्मों पर तुरंत रोक लगा कर उनका निर्देशन करने वाले लोगों को खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए और जेल भेजना चाहिए। साथ ही भविष्य में ऐसी वेब सीरीज अथवा फिल्मों का निर्माण ना हो। इसके लिए केंद्र सरकार को कड़ा कानून बनाना चाहिए और ऐसी फिल्मों पर रोक लगानी चाहिए। आचार्य स्वामी बालकानंद गिरी महाराज ने कहा कि ऐसे मुद्दों पर राजनीति नहीं होनी चाहिए और भगवान ऐसे फिल्म निर्माताओं को सद्बुद्धि प्रदान करें। जो देवी देवताओं का गलत चित्रण दर्शाते हैं। हिंदू समाज से जुड़े लोग शांतिप्रिय है। उनके सब्र का इम्तिहान नहीं लेना चाहिए। ऐसी फिल्में समाज में विद्वेष पैदा करती हैं और समाज को बांटने का कार्य करती हैं। धार्मिक भावनाओं का सम्मान सभी को करना चाहिए। साथ ही सुप्रीम कोर्ट को भी ऐसे मामलों में त्वरित संज्ञान लेकर उस पर उचित निर्णय लेना चाहिए। ताकि भविष्य में कोई भी ऐसे घृणित कार्य ना कर सके। इस दौरान आचार्य मनीष जोशी, स्वामी सत्यानन्द गिरी, स्वामी सुरेश पुरी, स्वामी नत्थीनंद गिरी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.