हरिद्वार समाचार– माँ मनसा देवी मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष एवं पंचायती अखाड़ा श्रीनिरंजनी के सचिव श्रीमहंत रविंद्रपुरी महाराज ने कहा कि कन्या पूजन करने से मां भगवती प्रसन्न होती हैं और श्रद्धालुओं पर कृपा बरसाती हैं। नवरात्रों में विधि विधान से मां भगवती की आराधना और कन्या पूजन से मनवांछित फल की प्राप्ति होती है। दुर्गा नवमी पर श्रवणनाथ मठ में कन्या पूजन कर श्रीमहंत रविंद्रपुरी महाराज ने कन्याओं को उपहार वितरित किए। श्रीमहंत रविंद्रपुरी महाराज ने कहा कि देवी स्वरूपा कन्याओं का पूजन कर व उनका आशीर्वाद प्राप्त करने पर ही नवरात्र व्रत पूर्ण होता है। उन्होंने कहा कि नवरात्रों में कन्या पूजन का विशेष महत्व है। कन्या पूजन से प्रसन्न होकर मां भगवती भक्तों के दुख और दरिद्रता दूर करती हैं। उन्होंने बताया कि तीन वर्ष की कन्या त्रिमूर्ति रूप में मानी जाती है। त्रिमूर्ति कन्या के पूजन से धन-धान्य आता है और परिवार में सुख-समृद्धि आती है। चार वर्ष की कन्या को कल्याणी माना जाता है। इनकी पूजा से परिवार का कल्याण होता है। उन्होंने कहा कि मां भगवती की उपासना के साथ कन्याओं का पूजन करने से मां भगवती की विशेष कृपा श्रद्धालुओं को प्राप्त होती है। उन्होंने कहा कि सभी विजय दशमी की बधाई देते हुए कहा कि बुराई पर अच्छाई की जीत के प्रतीक दशहरे के पर्व को मनाते समय कोरोना के प्रति सावधानी बरतें और गाइडलाइन का पालन करें। मां भगवती की कृपा से कोरोना से देश को पूर्ण रूप से मुक्ति मिलेगी। इस अवसर पर श्रीमहंत रामरतन गिरी महाराज ने कहा कि सभी को नवरात्र के अवसर पर कन्या पूजन अवश्य करना चाहिए। कन्या पूजन से मां भवगती प्रसन्न होकर साधक को मनवांछित फल प्रदान करती है और उसके समस्त पापों का शमन कर जीवन भवसागर से पार लगाती है। इस अवसर पर महामंडलेश्वर ललितानंद गिरी, महंत रविपुरी, स्वामी रघुवन, स्वामी मधुरवन, स्वामी राजगिरी, हेमंत टुटेजा, संदीप अग्रवाल, सुंदर राठौर, प्रतीक सूरी आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.