हरिद्वार समाचार- नवरात्र के पांचवे दिन उत्तराखण्ड की महामहिम राज्यपाल बेबी रानी मौर्या ने नीलधारा तट स्थित श्री दक्षिण काली मंदिर पहुंचकर म0म0 स्वामी कैलाषानंद ब्रह्मचारी के सानिध्य में मां दक्षिण काली की पूजा अर्चना की। इस दौरान स्वामी कैलाषानंद ब्रह्मचारी महाराज ने उन्हें पुष्प गुच्छ भेंट कर व मां की चुनरी ओढ़ाकर और माता का नारियल प्रसाद भेंटकर आषीर्वाद प्रदान किया।

स्वामी कैलाषानंद ब्रह्मचारी महाराज ने कहा कि नवरात्र में मां भगवती सभी भक्तों की मनोकामना पूर्ण करती है। भक्तों की सूक्ष्म अराधना से ही प्रकट होकर देवी मां भक्तों के सभी बिगड़े कार्य पूर्ण करती है। जो साधक श्रद्धापूर्वक नवरात्र में मां की उपासना करता है उसका जीवन भव सागर से पार हो जाता है। उन्होंने कहा कि मां दक्षिण काली सदैव अपने भक्तों पर ममता व करूणा बरसाती है। जिस तरह मां अपने पुत्रों से परस्पर स्नेह रखती है उसी तरह मां दक्षिण काली सदैव अपने भक्तों का संरक्षण कर उनका कल्याण करती है।

महामहिम राज्यपाल बेबी रानी मौर्या ने विष्व कल्याण की कामना करते हुए कहा कि मां दक्षिण काली की पूजा से निष्चित तौर पर सम्पूर्ण  विश्व में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होगा और दैवीय कृपा से ही कोरोना महामारी से सम्पूर्ण जगत को निजात मिलेगी। उन्होंने कहा कि संतों द्वारा की गई नवरात्र में विषेष अराधना अवष्य ही सहस्त्रगुणा पुण्य फलदायी होगी। संतो ंके सानिध्य में ही देष उन्नति की ओर अग्रसर हो सकता है। इस दौरान स्वामी राधाकान्ताचार्य, पं0 षिव कुमार, श्रीमहंत साधनानंद, आचार्य पवनदत्त मिश्र, पंडित प्रमोद पाण्डे, स्वामी विवेकानंद ब्रह्मचारी, सागर ओझा, अंकुष शुक्ला, अनुज दूबे, देवेन्द्र प्रधान, अमित वालिया, अनुराग बाजपेयी, संजय जैन, नमित जैन आदि ने भी महामहिम राज्यपाल को पुष्प गुच्छ भेंट कर उनका स्वागत किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.