हरिद्वार समाचार– देवस्थानम् बोर्ड भंग किए जाने पर संत समाज ने मुख्यमंत्री पुष्करसिंह धामी को फूलमाला पहनाकर व शाॅल ओढ़ाकर अभिन्नदन कर आभार जताया और उनके उज्जवल भविष्य की कामना की। श्री पंचायती अखाड़ा निरंजनी में आयोजित अभिनन्दन समारोह में अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष व निरंजनी अखाड़े के सचिव श्रीमहन्त रविन्द्रपुरी, अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय महामंत्री श्रीमहन्त हरिगिरि, शंकराचार्य स्वामी राजराजेश्वराश्रम महाराज, निरंजन पीठाधीश्वर आचार्य महामण्डलेश्वर स्वामी कैलाशानन्द गिरि महाराज, आनन्द पीठाधीश्वर आचार्य महामण्डलेश्वर स्वामी बालकानन्द गिरि महाराज, जूना अखाड़ा के सभापति महंत प्रेम गिरि महाराज, आह्वान आखाड़े के श्रीमहन्त सत्य गिरि, नया अखाड़ा उदासीन के श्रीमहंन्त भगतराम महाराज, श्रीमहन्त नारायण गिरि, महामण्डलेश्वर स्वामी ललितानन्द गिरि महाराज ने मुख्यमंत्री को शाॅल ओढ़ाकर व विशालकाय पुष्प माला पहनाकर तथा प्रतीक चिह्न व गंगाजलि भेंटकर भव्य अभिनन्दन व स्वागत किया।
अखाड़ा परिषद अध्यक्ष श्रीमहंत रविन्द्रपुरी महाराज की अध्यक्षता में आयोजित अभिनन्दन समारोह को संबोधित करते हुए शंकराचार्य स्वामी राजराजेश्वराश्रम महाराज ने कहा कि प्रदेश को आगे बढ़ाने के साथ धर्म व संतों की रक्षा भी कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने देवस्थानम बोर्ड भंग कर ऐतिहासिक फैसला लिया है।
अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष निरंजनी अखाड़े के सचिव श्रीमहंत रविंद्रपुरी महाराज ने कहा कि प्रदेश इस समय युवा मुख्यमंत्री के हाथों में है। जिसके चलते प्रदेश में लगातार नई-नई योजनाएं बन रही है। प्रदेश तरक्की की ओर अग्रसर है। देवस्थानम बोर्ड को भंग करने की घोषणा कर युवा मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने एक बहुत ही उचित कदम उठाया है। इसके लिए संत समाज व तीर्थ पुरोहित उनके आभारी हैं। मुख्यमंत्री के साथ तीर्थ पुरोहित व संत समाज हर समय साथ खड़ा रहेगा
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि संतों का आशीर्वाद उनके लिए प्रेरणा व ऊर्जा का स्रोत है। संतों के आशीर्वाद से वे कर्म क्षेत्र में और तेजी से आगे बढ़ेंगे। सभी की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए सरकार ने देवस्थानम बोर्ड भंग करने का निर्णय लिया है। जूना अखाड़ा स्थित दुःख हरण मन्दिर, जूना घाट पर सौन्दर्यीकरण और धार्मिक मान्यताओं की स्थापना हेतु त्रिशूल लगाने की घोषणा करते हुए उन्होंने कहा कि उत्तराखंड के सभी मठ मंदिरों संरक्षण संवर्धन हो इसके लिए सरकार लगातार प्रयास करेगी। उन्होंने कहा कि जब हम उत्तराखण्ड की 25वीं वर्षगांठ मनायेंगे, उस समय उत्तराखण्ड हर क्षेत्र में देश का अग्रणी राज्य होगा। इसके लिये हम सभी के विचार आमंत्रित किए जा रहे हैं तथा अगले 10 सालों का रोडमैप सभी विभागों से मांगा गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने अभी तक 500 से अधिक फैसले लिये हैं। उनके द्वारा जिन योजनाओं की घोषणा की जा रही है। उनका शासनादेश भी तुरन्त जारी किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार ने क्षेत्र में फैसले लिये हैं। सरकार मंशा है कि सभी क्षेत्रों का संपूर्ण विकास हो। पर्यटन क्षेत्र का जिक्र करते हुये उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड में जहाज को खड़ा करने के लिये पहले 20 प्रतिशत वैट लगता था, जिसे हमने कम करके दो प्रतिशत कर दिया है। जिससे उत्तराखण्ड आने वाले लोगों को काफी सुविधा होगी। केंद्र सरकार भी राज्य के विकास में भरपूर सहयोग कर रही है। देहरादून में आयोजित रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तराखण्ड के विकास की 18 हजार करोड़ की विभिन्न योजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण किया। इससे राज्य के विकास की गति और तेज होगी।
अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के महामंत्री श्रीमहंत हरि गिरि महाराज ने कहा कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने देवस्थानम बोर्ड भंग करने का ऐतिहासिक निर्णय लिया है। इसके लिए वे साधुवाद व आशीर्वाद के पात्र हैं।
निरंजन पीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी कैलाशानंद गिरी महाराज ने कहा कि संतों व तीर्थ पुरोहितों की भावनाओं का सम्मान करते हुए प्रदेश के युवा मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने देवस्थानम बोर्ड भंग कर सराहनीय निर्णय लिया है।
आनंद पीठाधीश्वर आचार्य स्वामी बालकानंद गिरी महाराज ने कहा कि तीर्थ पुरोहित व साधु संतो के हितों का मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी लगातार ध्यान रख रहे हैं।
मंच का संचालन एसएमजेएन काॅलेज के प्राचार्य डा.सुनील बत्रा ने किया।
इस अवसर पर श्री महंत नारायण गिरि ,महंत कश्मीरा सिंह, श्रीमहंत देवानंद सरस्वती, महंत सुखदेव पुरी,कैबिनेट मंत्री स्वामी यतीश्वरानन्द, किच्छा विधायक राजेश शुक्ला, पूर्व सांसद बलराज पासी, भाजपा जिला अध्यक्ष डा.जयपाल सिंह, जिला महामंत्री विकास तिवारी, गंगा सभा अध्यक्ष प्रदीप झा, महामंत्री तन्मय वशिष्ठ, ,मनसा देवी मंदिर ट्रस्ट के ट्रस्टी दिगंबर राजगीरी, अनिल शर्मा, पूर्व मेयर मनोज गर्ग, रामानंद इंस्टिट्यूट के डायरेक्टर वैभव शर्मा, डा.विशाल गर्ग, एसएसपी,डॉक्टर योगेंद्र सिंह रावत, एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय, एसडीएम सदर पूरण सिंह राणा, सीओ सिटी अभय प्रताप सिंह विभिन्न अखाड़ों के संत महापुरूष व गणमान्य लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.