हरिद्वार समाचार
 शारदीय नवरात्र के तीसरे दिन श्री दक्षिण काली मंदिर में भक्तों को मां भगवती की महिमा से अवगत कराते हुए निंरजन पीठाधीश्वर आचार्य महामण्डलेश्वर स्वामी कैलाशानंद गिरी महाराज ने कहा कि मां भगवती की आराधना से जीवन भवसागर से पार हो जाता है। भक्तों पर सदैव कृपा करने वाली मां भगवती सूक्ष्म आराधना से ही प्रसन्न होकर जीवन के सभी कष्टों को दूर कर देती है। स्वामी कैलाशानंद गिरी महाराज ने कहा कि नौ दिन तक चलने वाले नवरात्रों में विधि विधान से मां के विभिन्न स्वरूपों का पूजन व आराधना करने से जीवन में आने वाली सभी बाधाएं दूर हो जाती हैं। साधक के समस्त कष्टों का निवारण हो जाता है। परिवार में सुख समृद्धि का वास होता हैं और सफलता का मार्ग प्रशस्त होता है। उन्होंने कहा कि संसार में मां की शक्ति से बड़ी कोई शक्ति नहीं है। नवरात्रों में नौ दिनों तक मां दक्षिण काली के दर्शन व पूजा अर्चना करने से सभी मनोरथ सिद्ध होते हैं। मंदिर में साक्षात रूप से विराजमान मां दक्षिण काली भक्तों की सभी इच्छाएं पूर्ण करती है। नवरात्रों में मां भगवती का गुणगान करने से साधक के कल्याण का मार्ग प्रशस्त होता है। जिस भक्त पर मां भगवती की कृपा हो जाती है। उसके जीवन में कोई कष्ट नहीं रहता। उन्होंनें कहा कि नवरात्र में व्रत पूजन करने के साथ बालिकाओं के उत्थान व संवर्द्धन का संकल्प भी सबको अवश्य लेना चाहिए। बालिकाओं को शिक्षा व जीवन में आगे बढ़ने के समान अवसर प्रदान करें। इस अवसर पर स्वामी अवंतिकानंद ब्रह्मचारी, लाल बाबा, पंडित प्रमोद पांडे, बाल मुकुंदानंद ब्रह्मचारी, कृष्णानंद ब्रह्मचारी, स्वामी अनुरागी महाराज आदि सहित बड़ी संख्या में श्रद्धालु भक्त मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.