हरिद्वार, 22 जनवरी। विश्व शान्ति एवं कोरोना महामारी की समाप्ति के लिए कनखल स्थित दक्ष प्रजापति मंदिर में धार्मिक अनुष्ठान का आयोजन किया गया। इस दौरान अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं श्री पंचायती अखाड़ा महानिर्वाणी अखाड़े के सचिव श्रीमहंत रविन्द्रपुरी महाराज ने कहा कि हरिद्वार भगवान शिव की नगरी है। भगवान शिव सदैव भक्तों का कल्याण एवं कष्टों से रक्षा करते हैं। पौराणिक दक्ष महादेव मंदिर में साक्षात विराजमान भगवान शिव की कृपा से कोरोना महामारी समाप्त होगी तथा विश्व में शांति एवं खुशहाली व्याप्त होगी। उन्होंने कहा कि संतों का जीवन धर्म रक्षा एवं राष्ट्र रक्षा के लिए समर्पित होता है। भक्तों को ज्ञान की प्रेरणा देकर सदमार्ग पर चलने के लिए प्रेरित करना ही संत महापुरूषों का उद्देश्य है। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष महंत जसविन्दर सिंह महाराज ने कहा कि कोरोना महामारी में अखाड़ों, आश्रमों द्वारा विशेष सेवा प्रकल्पों का संचालन कर जरूरतमंदों की मदद की गयी। उन्होंने कहा कि संत महापुरूषों के सानिध्य में ही भक्तों का कल्याण होता है। इस अवसर पर महंत प्रेमदास, स्वामी शिवानन्द, महंत रामानन्द सरस्वती, महंत प्रह्लाद दास, महंत रघुवीर दास, महंत बिहारी शरण, महंत सूरज दास, महंत गोविन्द दास, महंत दुर्गादास आदि संतों ने भगवान शिव से देश दुनिया को कोरोना महामारी से मुक्ति दिलाने की प्रार्थना की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.