हरिद्वार समाचार– निरंजन पीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी कैलाशानंद गिरी महाराज एवं अखिल भारतीय श्री पंच निर्मोही अनी अखाड़े के अध्यक्ष श्रीमहंत राजेंद्र दास महाराज ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से देहरादून स्थित उनके आवास पर मुलाकात की और उन्हें मां की चुनरी और नारियल भेंट कर आशीर्वाद प्रदान किया। चर्चा के दौरान आचार्य महामण्डलेश्वर स्वामी कैलाशानंद गिरी महाराज ने कहा कि धर्म सत्ता और राजसत्ता के समन्वय से ही देश को विश्व गुरु बनने की ओर अग्रसर किया जा सकता है और जिस देश का राजा धर्म प्रेमी और सनातन परंपराओं को मानने वाला हो वह राष्ट्र सदैव ही उन्नति की ओर अग्रसर रहता है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के नेतृत्व में उत्तराखंड का चहुमुखी विकास हो रहा है। देश की तरक्की के लिए ऐसे राजनेताओं की अति आवश्यकता है। श्री पंच निर्मोही अनी अखाड़े के अध्यक्ष श्रीमहंत राजेंद्र दास महाराज ने कहा कि धर्म सत्ता का कार्य राजसत्ता को जगाते रहने का है। वर्तमान में राज्य एवं केंद्र सरकारों को धर्म के प्रति लोगों को जागरूक करना चाहिए साथ ही अधिक से अधिक बालक बालिकाओं को अपने वेद पुराण और प्राचीन ऋषि मुनियों धर्म और संस्कृति के बारे में ज्ञान प्रेषित करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि पुष्कर सिंह धामी संत महापुरुषों के प्रेमी है। समस्त संत समाज का आशीर्वाद उनके साथ है। वह ऐसे ही निष्ठा के साथ समाज की सेवा करते रहे और उत्तराखंड को भारत की आध्यात्मिक राजधानी के रूप में मान्यता प्रदान करें। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि संत महापुरुषों के तपोबल से देश दुनिया में भारत की एक अलग पहचान है और भारतीय संस्कृति एवं सनातन धर्म से प्रभावित होकर आज विदेशी लोग भी सनातन परंपराओं को अपना रहे हैं। गुरु शिष्य परंपरा पूरे विश्व में भारत को महान बनाती है और महापुरुषों ने सदैव ही समाज को ज्ञान की प्रेरणा देकर एक नई दिशा प्रदान की है। इस दौरान महंत गोविंद दास, स्वामी अवंतिकानंद ब्रह्मचारी, स्वामी कृष्णानंद ब्रह्मचारी आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.