हरिद्वार समाचार-श्री पंचायती अखाड़ा निर्मल के कोठारी महंत जसविन्दर सिंह महाराज ने मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत से चारधाम यात्रा को लेकर स्थिति स्पष्ट करने की मांग की। उन्होंने कहा कि सरकार चारधाम यात्रा को लेकर भ्रम की स्थिति को स्पष्ट करे। चारधाम यात्रा प्रदेश हित में प्रारम्भ की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि लाखों व्यापारियों का रोजगार चारधाम यात्रा से जुड़ा हुआ है। अखाड़े मठ मंदिर के प्रबंधक भी चारधाम यात्रा प्रारम्भ होने का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। दो वर्षो से लगातार राज्य के व्यापारी अपने रोजगार को लेकर मंदी का सामना कर रहे हैं। सरकार को जनहित में बड़ा दिल दिखाते हुए चारधाम यात्रा को कोरोना नियमों के तहत खोले जाने की अनुमति प्रदान करनी चाहिए। महंत जसविन्दर सिंह महाराज ने यह भी कहा कि उत्तराखण्ड राज्य की चारधाम यात्रा पर्यटन एवं धार्मिक क्रियाकलापों को बढ़ावा देती है। देश दुनिया के श्रद्धालु भक्त चारधाम यात्रा में आते हैं। सरकार को ठोस निर्णय लेकर चारधाम यात्रा को प्रारम्भ करना चाहिए। उन्होंने कहा कि होटल ट्रैवल्स, धर्मशालाएं आश्रम चारधाम यात्रा पर निर्भर हैं। कोरोना के चलते दो वर्षो से अन्य राज्यों का यात्री देवभूमि में नहीं पहुंच पा रहा है। सरकार को सकारात्मक कदम उठाते हुए कोरोना नियमों के तहत चारधाम यात्रा को प्रारम्भ करना चाहिए। महंत जसविन्दर सिंह महाराज ने कहा कि लगातार व्यापारी, सामाजिक संगठन यात्रा को प्रारम्भ करने की मांग करते चले आ रहे हैं। धर्मनगरी का व्यापार भी चारधाम यात्रा टिका हुआ है। महंत जसविन्दर सिंह महाराज ने कहा कि धार्मिक आयोजन होंगे तो बाहरी राज्यों से यात्री उत्तराखण्ड में पहुंचेंगे तो राज्य को राजस्व की प्राप्ति भी हो सकेगी। चारधाम यात्रा को लेकर सरकार को स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए

Leave a Reply

Your email address will not be published.