हरिद्वार, 27 जुलाई। निरंजन पीठाधीश्वर आचार्य महामण्डलेश्वर कैलाशानंद गिरी महाराज ने कहा है कि देवों के देव महादेव भगवान शिव की उपासना से अमोघ फल की प्राप्ति होती है और साधक के सभी मनोरथ पूर्ण होते हैं। श्रावण मास में जो श्रद्धालु भक्त भगवान शिव की आराधना नियमानुसार करते हैं। भगवान भोलेनाथ उन पर असीम कृपा करते हैं। महादेव की कृपा से श्रद्धालु भक्त का जीवन सदैव उन्नति की ओर अग्रसर रहता है। चण्डीघाट स्थित श्री दक्षिण काली मंदिर में पूरे सावन चलने वाली विशेष शिव अनुष्ठान के दौरान श्रद्धालु भक्तों को संबोधित करते हुए स्वामी कैलाशानंद गिरी महाराज ने कहा कि भगवान शिव सृष्टि के सर्वशक्तिमान देव हैं। भगवान शिव की आराधना व भक्ति करने वाले श्रद्धालु को मां पार्वती का आशीर्वाद भी प्राप्त होता है। श्रावण मास में कनखल स्थित दक्ष महादेव मंदिर में विराजमान रहकर सृष्टि का संचालन कर रहे भगवान शिव की आराधना व पूजन के लिए श्रावण माह को सर्वश्रेष्ठ माना गया है। श्रद्धालु भक्तो को पूर्ण श्रद्धा भाव के साथ पूरे श्रावण मास भगवान शिव की उपासना अवश्य करनी चाहिए। इस दौरान अवंतिकानंद ब्रह्मचारी, स्वामी रघुवीरानन्द, स्वामी विवेकानंद ब्रह्मचारी, स्वामी कृष्णानंद ब्रह्मचारी, महंत लालबाबा, बाल मुकुंदानंद ब्रह्मचारी, स्वामी अनुरागी महाराज, आचार्य पवनदत्त मिश्र, पंडित प्रमोद पाण्डे, पुजारी सुधीर पाण्डे सहित सैकड़ों श्रद्धालु भक्त उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.