हरिद्वार– अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के सभी सम्प्रदायों के संतों ने चारधाम यात्रा के सकुशल संपन्न होने व देश व राज्य की खुशहाली की कामना की। शंकर आश्रम स्थित होटल क्लासिक रेजीडेंसी में चारधाम यात्रा को लेकर आयोजित विशेष चर्चा के दौरान होटल के मैनेजिंग डायरेक्टर मनमोहन सिंह चावला, मधुप्रीत कौर व प्रबंधक भगतराम ने संतों का स्वागत कर आशीर्वाद लिया। दीप प्रज्जविलत कर चर्चा का शुभारंभ करते हुए अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष एवं श्री पंचायती अखाड़ा महानिर्वाणी के सचिव श्रीमहंत रविन्द्रपुरी महाराज ने कहा कि उत्तराखण्ड ऋषि मुनियों की तपस्थली तथा हरिद्वार चारधाम यात्रा का मुख्य द्वार है। चारधाम यात्रा देश दुनिया को सनातन धर्म व संस्कृति का संदेश देती है। विदेशी नागरिक भी सनातन संस्कृति को अपना रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं राज्य के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को चारधाम यात्रा को सुगम बनाने के लिए कार्य योजनाएं लागू कर रहे हैं। श्रद्धालु भक्तों को किसी भी प्रकार की कठिनाईयों का सामना ना करना पड़े बेहतर से बेहतर सुविधाएं उपलब्ध करा रही है। उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देवभूमि से विशेष लगाव रखते हैं। अखाड़ा परिषद के महामंत्री श्रीमहंत राजेंद्रदास महाराज ने कहा कि होटल व्यवसायी भी उत्तराखण्ड के धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने में हरसंभव सहयोग कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि देश दुनिया से श्रद्धालु भक्त चारधाम यात्रा में पहुंचते हैं। उनको आकर्षक व विशेष सुविधाएं प्रदान करना होटल व्यवसायियों की नैतिक जिम्मेदारी बनती है। अखाड़ा परिषद के कोषाध्यक्ष महंत जसविन्दर सिंह महाराज व महामण्डलेश्वर स्वामी हरिचेतनानन्द महाराज ने कहा कि चारधाम यात्रा भारतीय संस्कृति व हिन्दू धर्म संस्कृति को दर्शाने का सशक्त माध्यम है। सभी को मिलजुल कर चारधाम यात्रा को सफल बनाने में अपना सहयोग प्रदान करना चाहिए। यात्री श्रद्धालुओं के साथ किसी भी प्रकार का अभद्र व्यवहार नहीं होना चाहिए। प्रत्येक नागरिक को विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता है कि किसी भी श्रद्धालु की भावनाएं आहत ना हों। राज्य के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी युद्ध स्तर पर चारधाम यात्रा की सुविधाएं उपलब्ध कराने में विशेष रूचि ले रहे हैं। संत महापुरूषों के आशीर्वाद से चारधाम यात्रा सकुशल संपन्न होगी। होटल के मैनेजिंग डायरेक्टर मनमोहन सिंह चावला, मधुप्रीत कौर व प्रबंधक भगतराम ने संतों का स्वागत करते हुए कहा कि संतों से ही देवभूमि उत्तराखण्ड की पहचान है। संत समाज के आशीर्वाद से चारधाम यात्रा अवश्य सकुशल संपन्न होगी। इस अवसर श्रीमहंत रविन्द्रपुरी, श्रीमहंत राजेंद्रदास, महंत जसविन्दर सिंह, म.म.स्वामी हरिचेतनानन्द, बाबा बलराम दास हठयोगी, स्वामी ऋषिश्वरानन्द, स्वामी रविदेव शास्त्री, महंत रघुवीर दास, महंत रामजी दास, महंत गोविंददास, महंत बिहारी शरण, महंत रामदास, महंत दुर्गादास, महंत सूरजदास, स्वामी हरिहरानन्द, स्वामी दिनेश दास सहित सभी संत महंतों ने चारधाम यात्रा सकुशल संपन्न होने की कामना की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.