हरिद्वार, 12 मार्च। मां गंगा गौधाम सेवा ट्रस्ट के तत्वाधान में शुरू किए गए जरूरतमंद परिवारों एवं संतों को राशन वितरण अभियान के अंतर्गत शनिवार को भूपतवाला स्थित स्वामी नारायण आश्रम मंें श्री पंचायती अखाड़ा बड़ा उदासीन के श्रीमहंत रघु मुनि महाराज, स्वामी नारायण आश्रम के परमाध्यक्ष महामण्डलेश्वर स्वामी हरिवल्लभ दास शास्त्री महाराज, मां गंगा गौधाम सेवा ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत निर्मल दास महाराज, महामंत्री धर्मदास महाराज, कोषाध्यक्ष नितिन गौतम, ट्रस्टी विकास प्रधान, मनीष चैहान ने दो हजार लोगों को राशन किट वितरित की।
इस अवसर पर श्रीमहंत रघुमुनि महाराज ने कहा कि मानव सेवा ही सबसे बड़ा धर्म है। अन्न दान सबसे बड़ा दान है और जरूरतमंद की मदद से बड़ा कोई पुण्य नहीं है। उन्होंने कहा कि दान देने वाले से बड़ा दान लेने वाला होता है। जरूरतमंद परिवारों एवं सतों की सेवा के लिए मां गंगा गौधाम सेवा ट्रस्ट द्वारा शुरू किए गए राशन वितरण अभियान के लिए ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत निर्मल दास एवं महामंत्री धर्मदास बधाई के पात्र हैं। इससे अन्य संगठनों को भी प्रेरणा मिलेगी। श्रीमहंत रघुमुनि महाराज ने कहा कि सत्य के मार्ग पर चलने वालों की हमेशा संसार में विजय होती है।
स्वामी नारायण आश्रम के परमाध्यक्ष महामण्डलेश्वर स्वामी हरिवल्लभ दास शास्त्री महाराज ने कहा कि समाज में ज्ञान व धर्म संस्कृति का प्रचार प्रसार करने के साथ संत समाज सेवा कार्यो में भी अग्रणी भूमिका निभा रहा है। कोरोना काल में विभिन्न अखाड़े, आश्रमों ने अपने सेवा प्रकल्पों के माध्यम से जरूरतमंदों को भोजन व अन्य सहायता उपलब्ध कराने में अहम योगदान दिया। मां गंगा गौधाम सेवा ट्रस्ट की और से शुरू किए गए राशन वितरण अभियान से जरूरतमंदों को मदद मिलेगी।
मां गंगा गौधाम सेवा ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत निर्मल दास महाराज ने बताया कि अभियान के तहत 21 हजार राशन किट वितरित करने का लक्ष्य तय किया गया है। अभियान के प्रथम चरण में चार हजार जरूरतमंद परिवारों व संतों को राशन किट वितरित की गयी हैं। हरिद्वार के साथ ऋषिकेश व स्वर्गाश्रम में भी राशन किट वितरित की जाएंगी। उन्होंने कहा कि संत महापुरूषों के आशीर्वाद व मार्गदर्शन में अभियान का संचालन करते हुए जरूरतमंदों की सेवा करना ही ट्रस्ट का लक्ष्य है।
ट्रस्ट के महामंत्री महंत धर्मदास महाराज व कोषाध्यक्ष नितिन गौतम ने बताया कि जरूरतमंदों की सेवा के लिए ट्रस्ट द्वारा कई सेवा प्रकल्पों का संचालन किया जा रहा है। अभियान के अगले चरण में जल्द ही जरूतमंदों को राशन किट वितरित की जाएंगी। श्री स्वामी नारायण आश्रम के प्रबंधक स्वामी आनन्द स्वरूप दास शास्त्री महाराज ने कहा कि संतों का जीवन ही परोपकार को समर्पित रहता है। समाज को मानव सेवा की प्रेरणा देकर भावी पीढ़ी को संस्कार बनाना ही संत समाज का मुख्य उद्देश्य है। कार्यक्रम में कोरोना गाइडलाईन का पालन किया गया। इस अवसर पर ट्रस्टी विकास प्रधान, मनीष चैहान सहित कई संतजन मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.