श्रीराम कथा के श्रवण से जीवन संवर जाता है-स्वामी कपिल मुनि
हरिद्वार, 10 जून। महामंडलेश्वर स्वामी कपिल मुनि महाराज ने कहा है कि श्री राम कथा को आत्मसात कर लेने पर व्यक्ति का जीवन संवर जाता है। क्योंकि प्रभु श्री राम का नाम लिखने पर तो पत्थर भी तैरने लगते हैं। इसलिए श्री राम कथा सभी के लिए सर्वहितकारी है। कनखल स्थित हरे राम आश्रम में आयोजित श्री राम कथा के चैथे दिन श्रद्धालु भक्तों को कथा का रसपान कराते हुए स्वामी कपिल मुनि महाराज ने कहा कि प्रभु श्री राम ने समाज से जात पात ऊंच नीच का भेदभाव मिटाकर समरसता का संदेश दिया। उन्होंने वनवास के दौरान माता शबरी के झूठे बेर खाकर एक नई धारणा को जन्म दिया। विश्व के इतिहास में श्री राम के आदर्श कर्म योगी सहनशील और सत्य की पराकाष्ठा जैसा जीवन और कोई नहीं हो सकता। कथा व्यास विजय कौशल महाराज ने कहा कि भगवान श्री राम का जीवन उत्तम चरित्र, धर्म, शांति और पवित्रता प्रदान करने वाला है। इसका अनुसरण जो श्रद्धालु भक्त कर लेता है। उसका जीवन भवसागर से पार हो जाता है। वास्तव में जीवन जीने की कला हमें भगवान श्री राम का जीवन चरित्र सिखाता है। उन्होंने कहा की एक और जहां पूरा विश्व अशांत है। वहीं भारत देश धार्मिक अनुष्ठान और प्रवचनों के माध्यम से पूरे विश्व को धर्म का सकारात्मक संदेश प्रदान कर रहा है। भगवान श्री राम बहुत ही दयालु है और कृपालु हैं। जो भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूर्ण करते हैं। श्री पंचायती अखाड़ा बड़ा उदासीन के मुखिया महंत दुर्गादास महाराज ने कहा कि भगवान के दर्शन करने हर किसी को नहीं होते। आज श्री राम कथा का पवित्र मंचन हो रहा है। किंतु भक्त दर्शन को नहीं आते। हमें अपने जीवन में धर्म की महत्ता को समझना होगा। क्योंकि धर्म के मार्ग पर अग्रसर रहकर ही इस जीवन को सार्थक किया जा सकता है। इस अवसर पर डा.जितेंद्र सिंह, विमल कुमार, प्रो.प्रेमचंद्र शास्त्री, नीलाम्बर खर्कवाल, रमेश उपाध्याय, रामचंद्र पाण्डेय, हरीश कुमार, डा.अश्वनी चैहान, मयंक गुप्ता, कोठारी स्वामी परमेश्वर मुनि, स्वामी रामसागर, साध्वी प्रभा मुनि, स्वामी संतोषानंद, भाजपा नेत्री अनिता शर्मा, भाजपा नेता ओमकार जैन, महामंडलेश्वर स्वामी रूपेंद्र प्रकाश, महंत दामोदर दास, महंत गोविंद दास, महंत प्रेमदास, महंत दामोदर शरण दास, महंत श्रवण मुनि, महंत निर्मल दास, महंत जयेंद्र मुनि, महामंडलेश्वर स्वामी भगवत स्वरूप, महंत केशव मुनि आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.