हरिद्वार समाचार–  जिलाधिकारी हरिद्वार श्री विनय शंकर पाण्डेय ने भारत सरकार द्वारा चलाये जा रहे पोषण अभियान के तहत जनपद हरिद्वार के सलेमपुर, बाल विकास परियोजना, बहादराबाद-एक में महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित राष्ट्रीय पोषण माह का शुभारम्भ दीप प्रज्ज्वलित कर किया।
श्री विनय शंकर पाण्डेय ने इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुये कहा कि आज समय की मांग है कि गर्भवती महिलायें, धातृ महिलायें एवं किशोरियों के पोषण का विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि यदि गर्भवती अपने गर्भावस्था में पोषण का सही ध्यान रखे व आयरन-फोलिक गोलियों का सेवन नियमित करे, तो कम वजन व कुपोषित शिशु के होने का खतरा कम हो जाता है।
जिलाधिकारी ंने कहा कि विभिन्न क्षेत्रों में उनके द्वारा किये जा रहे भ्रमण के दौरान यह तथ्य सामने आ रहा है कि हमारे देश में कुपोषण की गंभीर समस्या है, जिसकी वजह से कई बच्चे दिव्यांग पैदा होते हैं, जिसके लिये वह दिव्यांग शिशु जिम्मेदार नहीं है, बल्कि उसके मां-बाप हैं, जिन्होंने पोषण का ध्यान नहीं रखा। उन्होंने कहा कि हम लोगों को यह प्रयास करना चाहिये कि यह कार्यक्रम केवल कागजों में नहीं, बल्कि धरातल पर उतरना चाहिये। इसके लिये सभी को मिल-जुलकर प्रयास करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि बच्चा जब पैदा होता है, तो उसके लिये दो साल महत्वपूर्ण होते हैं। इसी अवधि में बच्चे के शारीरिक व मानसिक विकास पर पूरा ध्यान दिया जाना चाहिये।
जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न जन-कल्याणकारी योजनाओं का लाभ ससमय समाज के निचले तबके तक पहुंचाना सुनिश्चित करें।
श्री विनय शंकर पाण्डेय ने अधिकारियों को यह भी निर्देश दिये कि इस सम्बन्ध में एक हेल्प लाइन भी तैयार की जाये, जिसका व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाये ताकि जिस किसी को भी मदद की आवश्यकता होगी, तो उसकी मदद की जा सके। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय पोषण माह के दौरान क्या-क्या उपलब्धियां रहीं, इसके बारे में मुझे अवश्य बताया जाये।
जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री देव सिंह ने इस अवसर पर पोषण माह के अलग-अलग हफ्तों में चलने वाले कार्यक्रम के बारे में विस्तार से प्रकाश डाला।
बाल विकास परियोजना अधिकारी श्रीमती सुलेखा सहगल ने महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा चलायी जा रही विभिन्न योजनाओं व गर्भावस्था के दौरान पोषण कैसा हो, के सम्बन्ध में बताया।
इस मौके पर जिलाधिकारी ने आकांक्षी जनपद हरिद्वार में पोषण व स्वास्थ्य पर नीति आयोग के साथ कार्य कर रही प्लान इण्डिया संस्था द्वारा निर्मित ’’पोषण जागरूकता पोस्टर’’ का अनावरण किया।
जिलाधिकारी ने इस अवसर पर लाभार्थियों को ’’मुख्यमंत्री महालक्ष्मी किटों ’’का वितरण भी किया

। कार्यक्रम में तीन बच्चों का अन्नप्राशन तथा नौ गर्भवतियों की गोदभराई की रश्म की गयी।
कार्यक्रम के आयोजन में महिला बाल विकास सुपरवाइजर- प्रीति, रेखा, सुनीता, नीलम, ऊषा, गायत्री, विद्या, शशि, आंगनबाडी कार्यकत्र्री-रूबी, ममता, किरण, पूनम, संयोगिता, निर्मल, नीलम तथा प्लान इण्डिया संस्था के प्रतिनिधि श्री राम ने विशेष सहयोग किया।
इस अवसर पर जिला होम्योपैथिक अधिकारी, जिला आयुर्वेदिक अधिकारी, जिला पंचायतराज अधिकारी, खण्ड विकास अधिकारी, जिला खेल अधिकारी तथा जिला युवा कल्याण अधिकारी सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.