देहरादून समाचार–  प्रभारी जिलाधिकारी/ समुचित प्राधिकारी पी.सी.पी.एन.डी.टी नितिका खण्डेलवाल ने जिला कार्यालय के ऋषिपर्णा सभागार में पी.सी.पी.एन.डी.टी (गर्भाधान पूर्व एवं प्रसव पूर्व निदान तकनीक (विनियम एवं दुरुपयोग निवारण) जिला सलाहकार समिति की बैठक में समिति के सदस्यों को निर्देश दिए कि जनपद में संचालित सभी अल्ट्रासाउंड केंद्रों और क्लीनिकों पर पैनी निगरानी रखें तथा गोपनीय सूचना पर तथा अपने स्तर से समय-समय पर औचक निरीक्षण करें ताकि किसी भी केंद्र पर अल्ट्रासाउंड तकनीक का दुरुपयोग और अवैध तरीके से संचालित क्लीनिक और अल्ट्रासाउंड केंद्रों पर रोक लगाते हुए सम्बन्धित के विरूद्ध अधिनियम में प्राविधानों के अन्तर्गत कार्यवाही अमल में लाई जाए। उन्होंने कहा कि क्लीनिकल एवं अल्ट्रासाउण्ड दोनों के पंजीकरण होने आवश्यक है। इसके लिए संस्थानों का निर्धारित नवीनीकरण तिथि से पूर्व आवेदन किया जाना चाहिए तथा निर्धारित तिथि के उपरान्त प्राप्त होने वाले आवेदनकर्ताओं को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश बैठक में दिए गए।
बैठक में प्रभारी जिलाधिकारी ने पिंक क्लीनिक, मलिक अल्ट्रसाउण्ड सेन्टर, सुभारती चिकित्सालय, दून मेडिकल कालेज एवं जीएमएस मंगल क्लीनिक्स एण्ड डायग्नोस्टिक सेन्टरों में अल्ट्रासाउण्ड मशीन क्रय किए जाने हेतु जिला सलाहकार समिति के निर्णय के आधार  पर सहमति प्रदान की। उन्होंने देवभूमि हास्पिटल एवं नर्सिंग के अतिरिक्त हरबर्टपुर क्रिश्चियन हाॅस्पिटल के पंजीकरण का नवीनीकरण किए जाने के निर्देश दिए। इसके अलावा बोहरा मदर चाईल्ड केयर नर्सिंग होम के नवीन पंजीकरण को आवेदन के आधार पर स्वीकृत किया गया।
बैठक में जिला सलाहकार समिति द्वारा हिमालयन हाॅस्पिटल के डाॅ रश्मि राजपूत, डाॅ गरिमा  एवं डाॅ नमिता आहुजा, वैश्य नर्सिंग होम के डाॅ हंस वैश्य, वेलमेड हास्पिटल के डाॅ अभिनव जैन, एम्स के डाॅ गौतम शेखर, डाॅ प्रदीप सैनी, डाॅ दीपेश कुमार एवं डाॅ शैरोन कण्डारी, निदान डायग्नोस्टिक के डाॅ विभु गोपाल, पुरूषोत्तम डायग्नोस्टिक सेन्टर के डाॅ ज्योत्सनायर्रम सेट्टी, कनिष्क हास्पिटल के डाॅ सुभाषचन्द्र चमोली के अलावा मलिक अल्ट्रासाउण्ड सेन्टर के डाॅ अन्जू को अल्ट्रासाउण्ड मशीन में कार्य करने की अनुमति दी गई। बैठक में प्राइम हैल्थ केयर द्वारा मशीन को सीलमुक्त करने तथा डाॅ अन्जू को केन्द्र में कार्य करने की अनुमति प्रदान की गई।
इस दौरान एसपीएस चिकित्सालय ऋषिकेश एवं सीएससी रायपुर की अल्ट्रासाउण्ड मशीनों का पंजीकरण फार्म बी में करने की अनुमति भी दी गई। इसी प्रकार एटरनल हार्टकेयर विकासनगर, सुभारती नंदा की चैकी, मेडिकेयर सेलाकुई, अरविन्द इमेजिंग लाइफलाइन तथा सिटी हार्ट सेन्टर देहरादून की अल्ट्रासाउण्ड मशीनों के स्थानान्तरित किए जाने की अनुमति जिला सलाहकार समिति के निर्णय के आधार पर कर दी गई। बैठक में स्वास्तिक इमेजिंग एडं अल्ट्रासाउण्ड सेंटर प्रेमनगर की माइनड्रे डीसी30 अल्ट्रासाउण्ड मशीन को माइनडेª डीसी 60 में बदलने, शिवालिक एमआरआई वीरभद्र की मशीन शिवालिक डाइग्नोस्टिक एडं इमेंजिंग सेन्टर देहरादून रोड स्थानान्तरित करने, महन्त इन्दे्रश हास्पिटल की तीन मशीनों के डिस्पोजआॅफ तथा अल्ट्रासाउण्ड मशीन को कक्ष न0 22 से कक्ष न 15 में स्थानान्तरित करने, हीलिंग टज के डाॅ मुकाडे हनुवन्ता फुलाजी, चन्दन डाइग्नोस्टिक सेन्टर के डाॅ गोपाल,शर्मा को ईको अल्ट्रासाउण्ड मशीन में कार्य करने के अलावा आरोग्य धाम सुपर स्पेशिलिटी की डाॅ रचना सिंह को अल्ट्रासाउण्ड मशीन पर कार्य करने की अनुमति दी गई। इसके अलावा डाॅ निखत अली अंसारी केयर मेडिकल सेन्टर पण्डितवाड़ी को अपनी पंजीकृत अल्ट्रासाउण्ड मशीन अरोग्यधाम हाॅस्पिटल से केयर मेडिकल सेन्टर स्थानान्तरित करने की अनुमति जिला सलाहकार समिति द्वारा दी गई
इस दौरान पी.सी.पी.एन.डी.टी जनपद सलाहकार समिति में मुख्य चिकित्सा अधिकारी/ नोडल अधिकारी पीसीपीएनडीटी डॉ अनूप कुमार डिमरी, डॉ वंदना सेमवाल, वरिष्ठ पैथोलाॅजिस्ट डाॅ जेपी नौटियाल, उप मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डाॅ एन.एस खत्री, डाॅ राजीव दीक्षित, रेडियोलाॅजिस्ट डाॅ सुबोध नौटियाल, वरिष्ट गायनेकालाॅजिस्ट डाॅ चित्रा जोशी, जिला समन्वय पी.सी.पी.एन.डी.टी ममता बहुगुणा, सी.डी.पी.ओ शहर क्षमा बहुगुणा आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.