हरिद्वार: निर्वाचन आयोग के प्रेक्षकों ने कलेक्ट्रेट स्थित मीडिया सर्टिफिकेशन एवं मॉनिटरिंग समिति के कार्याें का निरीक्षण किया और पेड न्यूज तथा सोशल मीडिया के माध्यम से होने वाले चुनाव प्रचार पर विशेष निगरानी रखने को कहा। समिति द्वारा प्रेक्षकों को अवगत कराया गया कि अब तक पेड न्यूज के तीन मामलों की पुष्टि हुई है और कुल सात मामलों में नोटिस दिए गए हैं।
मा0 व्यय प्रेक्षकों श्री सुनील कुमार अग्रवाल और श्री शिव स्वरूप ंिसह ने मीडिया सर्टिफिकेशन एवं मॉनिटरिंग समिति कार्यालय में समिति के कार्याें के बारे में  विस्तृत जानकारी ली।  दोनों प्रेक्षकों ने कहा कि सभी टीवी चैनलों, न्यूज पोर्टलों और समाचार-पत्रों में प्रसारित/प्रकाशित हो रही खबरों का नियमित अवलोकन किया जाय। उन्होंने इसके अलावा सोशल मीडिया, विशेष तौर पर प्रत्याशियों के फेसबुक, इंस्टाग्राम और ट्विटर खातों पर निगाह रखने को कहा। उन्होंने कहा कि इन माध्यमों पर प्रत्याशियों द्वारा कितना व्यय किया जा रहा है, इस पर नियमित रूप से निगाह रखी जाये।
श्री सुनील कुमार अग्रवाल और श्री शिव स्वरूप ंिसह ने कहा कि पेड न्यूज के जरिये आम मतदाताओं को भ्रमित करने का प्रयास किया जाता है। इनका प्रकाशन लोकतांत्रिक प्रक्रिया में बाधा पैदा करता है। उन्होंने कहा कि टीवी चैनलों और न्यूल पोर्टलों पर कोई वीडियो प्रसारण मीडिया सर्टिफिकेशन एवं मॉनिटरिंग समिति की पूर्व अनुमति के बिना नहीं किया जा सकता। इसी प्रकार मतदान के 48 घंटे पूर्व जो भी विज्ञापन अखबारों-पत्रिकाओं आदि में प्रकाशित कराए जाएंगे, उनके लिए भी समिति से सर्टिफिकेशन कराना अनिवार्य होगा।
इस दौरान मीडिया सर्टिफिकेशन एवं मॉनिटरिंग समिति द्वारा बताया गया कि अब तक हरिद्वार, पिरान कलियर, भगवानपुर, खानपुर और लक्सर विधानसभा से चुनाव लड़ रहे सात प्रत्याशियों को पेड न्यूज से संबंधित नोटिस जारी किए गए हैं। इनमें सात फरवरी तक तीन प्रत्याशियों ने पेड न्यूज के मामलों को स्वीकार कर लिया है। पिरान कलियर से कांग्रेस प्रत्याशी और आजाद समाज पार्टी ने लिखित तौर पर पेड न्यूज को स्वीकारा है। इसी प्रकार खानपुर विधानसभा क्षेत्र के लिए निर्दलीय प्रत्याशी ने भी पेड न्यूज को स्वीकार किया है। इन सभी द्वारा प्रकाशित कराई गई खबर को विज्ञापन मानते हुए उनके खर्च का विवरण संबंधित रिटर्निंग ऑफिसरों को भेज दिया गया है। अन्य मामलों में अभी प्रत्याशियों को दिए गए नोटिसों के जवाब की प्रतीक्षा की जा रही है। पेड न्यूज की पुष्टि के मामले में संबंधित प्रकरणों को अग्रेतर कार्रवाई के लिए चुनाव आयोग के संज्ञानार्थ भेजा जाएगा।
आयोग के प्रेक्षकों श्री सुनील कुमार अग्रवाल और श्री शिव स्वरूप ंिसह ने जोर देकर कहा कि मतदान होने तक पेड न्यूज, विज्ञापन-सामग्री के सर्टिफिकेशन आदि के प्रकरणों पर समयबद्ध ढंग से कार्रवाई की जानी है। उन्होंने मीडिया से भी अनुरोध किया कि वे सर्टिफिकेशन के बिना चुनाव प्रचार संबंधी विज्ञापनों का प्रकाशन न करें और विज्ञापनों को केवल विज्ञापन के रूप में ही प्रकाशित किया जाए। उन्होंने मीडिया से अनुरोध किया कि वे अपने स्तर से भी पेड न्यूज के प्रकाशन को बढ़ावा न दें।
निरीक्षण के दौरान मुख्य कोषाधिकारी सुश्री नीतू भंडारी, मीडिया विशेषज्ञ डॉ. सुशील उपाध्याय सहित सम्बन्धित अधिकारीगण मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.