भगवानपुर  हरिद्वार समाचार– वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जनपद हरिद्वार व  पुलिस अधीक्षक ग्रामीण के निर्देशन तथा  क्षेत्राधिकारी मंगलौर  के कुशल पर्यवेषण में थाना भगवानपुर पुलिस द्वारा क्षेत्र में संदिग्ध व्यक्तियो वाहनो का सघन चैकिंग अभियान चलाया गया। चैकिंग के दौरान खानपुर तिराहे पर स्वीफ्ट सफेद रंग को चैक किया गया जिसे चालक शहजाद पुत्र इकबाल नि0 ग्राम कुटेसरा थाना चरथावल मुजफ्फरनगर हाल निवासी ग्राम दादुपुर गोविन्दपुर रानीपुर हरिद्वार चला रहा था चालक से वाहन के कागजात तलब किये गये तो वाहन चालक द्वारा वाहन पर लगी नम्बर प्लेट की आर0सी0 व अन्य कागजात दिखाये गये गहनता से चैक करने पर गाडी पर चैसिस न0ए इंजन न0 संदिग्ध होना पाया गया स्वीफ्ट कार को मारुति सुजुकि आटोमोबाईल रुडकी हरिद्वार ले जाकर नियमानुसार इंजीनियरो से चैक कराया गया तो उपरोक्त स्वीफ्ट का असली नम्बर क्स्3ब्ब्ज्0134 व चैसिस न0 666240 ए इंजन न0 1290153 व वाहन स्वामी श्रीमति पूनम नि0 दिल्ली के नाम होना पाया गया जिनके द्वारा बताया गया कि  गाडी चोरी हो गयी थी  थाना पांडव नगर दिल्ली में थ्प्त् न0 7750ध्2021 दर्ज करायी हुई है। स्वीफ्ट कार पर लगे नम्बर प्लेट न्च्15ब्ल्4842 के पते पर जानकारी की गयी तो यह गाडी श्री नरेन्द्र कुमार तलवार ;ब्रिगेडियरद्ध पुत्र लाजपतराय तलवार नि0 ।.19 डिफैन्श कालोनी मवाना रोड मेरठ उ0प्र0 के नाम होना व गाडी स्वीफ्ट कार स्वंय के घर पर खडा होना पाया गया। स्वीफ्ट कार पर कूटरचित नम्बर अंकित कर कूटरचित दस्तावेज बनाकर गाडी को भगवानपुर थाना क्षेत्र में चलाते हुए गिरफ्तार किया गया। जिस आधार पर अभि0 के विरुध मु0अ0स0 374ध्2021 धारा 420ध्467ध्468ध्471ध्120बी0ध्411 भादवि का अभियोग पंजीकृत किया गया जिसे माननीय न्यायालय पेश किया जायेगा।
’पूछताछ अभि0’
अभि0 से पूछताछ की गयी तो अभि0 द्वारा बताया गया कि स्वीफ्ट कार नम्बर न्च्15ब्ल्4842 मुझे मेरे साथी पप्पू पुत्र यासीन नि0 अलियारपुर थाना मंसूरपुर जिला मुजफ्फरनगर ने एक सप्ताह पूर्व दी थी इसको मैं बेचने के लिए घूम रहा था हम लोग गाडी को इधर उधर से उठा कर गाडी के नम्बरो को बदलकर कागज तैयार कर बेचकर पैसा कमाते है इसी की आड में हम लोग ट्रान्सपोर्ट का काम करते है।
’गिरफ्तार अभियुक्त’
1. शहजाद पुत्र इकबाल नि0 ग्राम कुटेसरा थाना चरथावल मुजफ्फरनगर हाल निवासी ग्राम दादुपुर गोविन्दपुर रानीपुर 

Leave a Reply

Your email address will not be published.